Home / Odisha / CMS ELECTION- ताकत प्रदर्शन और रैलियों का गवाह बना कटक

CMS ELECTION- ताकत प्रदर्शन और रैलियों का गवाह बना कटक

झलकियां

  • रैली में शामिल चेहरों ने बहुत कुछ किया साफ

  • मातृशक्ति ने भी दिखाइ अपनी ताकत

  • चुनाव में महत्वपूर्ण दिख रही है मंदिर और घटक दलों की भूमिका

हेमंत कुमार तिवारी, कटक

कटक मारवाड़ी समाज के अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर माहौल जमता जा रहा है। आज नामांकन पत्र दाखिल करने का अंतिम दिन था। इसे देखते हुए आज 3 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किए। आज नामांकन पत्र दाखिल करने वालों में नथमल चनानी उर्फ मामाजी, किशन कुमार मोदी और पवन भावसिंहका शामिल हैं।

इस दौरान प्रत्याशियों ने एक तरह से अपनी-अपनी शक्तियों का प्रदर्शन भी किया तथा समाज को यह दिखाने का प्रयास किया कि किसमें कितना दम खम है। किशन कुमार मोदी श्री गोपीनाथ मंदिर से मोटरसाइकिल रैली निकाली तो वहीं मामा जी ने आज एक भव्य रैली के साथ कटक के सभी पुराने मंदिर श्री गणेश मंदिर, सत्यनारायण मंदिर, गोपीनाथ मंदिर, गोविंददेव मंदिर, जगन्नाथ मंदिर, राणी सती मंदिर आदि के दर्शन करते हुए करीब 300  समर्थक के साथ नामांकन भरने गए। इसमे 70 से भी ज्यादा महिलाओँ की उपस्थिति थी। पूरे रास्ते समर्थकों का जयकारा कटक समाज के विभिन्न घटकों से पधारे पदाधिकारी वहाँ मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि आज नामांकन पत्र दाखिल करने का अंतिम दिन था। इसलिए आज ही कुछ अंतराल पर तीनों प्रत्याशी नामांकन दाखिल करने पहुंचे।आज सुबह से ही कटक में लोगों की निगाह नामांकन पर की थी। आज की दोनों रैलियों से काफी कुछ समाज में संदेश गया। कटक मारवाड़ी समाज के चुनाव में मंदिर और घटक दलों की भूमिका महत्वपूर्ण दिख रही है।

किशन कुमार मोदी श्री गोपीनाथ मंदिर मारवाड़ी समाज के महासचिव हैं, जबकि मामा जी कई सामाजिक संस्थाओं और गौशालाओं से जुड़े हुए हैं। अब समाज में लोगों की निगाहें नामांकन वापसी लेने की तिथि पर टिकी है, क्योंकि उसके बाद ही असल दृश्य लोगों के सामने आएगा कि अध्यक्ष पद के लिए प्रबल दावेदार कौन-कौन लोग हैं। आज दोनों दलों के साथ रैली में शामिल सदस्यों के चेहरे ने बहुत कुछ स्थिति साफ कर दी है। हालांकि इस दौरान कुछ वरिष्ठ सदस्यों की गैरमौजूदगी भी लोगों के बीच चर्चा का विषय है।हालांकि समाज के कुछ वरिष्ठ सदस्य कटक से बाहर होने के कारण हुए रैलियों में शामिल नहीं हो सके।

Share this news

About desk

Check Also

24 घंटे में कमजोर होगा डिप डिप्रेशन

ओडिशा और छत्तीसगढ़ से होते हुए पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना भुवनेश्वर। ओडिशा और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *