Home / Odisha / एयर इंडिया के विमान विलंब होने से यात्रियों में आक्रोश

एयर इंडिया के विमान विलंब होने से यात्रियों में आक्रोश

  • सही जवाब देने से कतराते रहे अधिकारी, 3 घंटे बाद खाने में दिया सैंडविच शाम को मिली बिस्किट चाय

  • कनेक्टिंग फ्लाइट और ट्रेन मिस होने से यात्रियों की चिंता बढ़ी

नीलकमल बेंगानी, भुवनेश्वर

भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर एयर इंडिया के विमान संख्या एआई-78 के विलंब होने के कारण यात्रियों में आक्रोश देखने को मिला। यात्री ने बताया कि शुरू-शुरू में  अधिकारी कुछ भी कहने से कतरा रहे थे। कोई इतना कह रहे थे कि तकनीकी गड़बड़ी के कारण विलंब हो रही है। विमान के विलंब होने के कारण कंपनी की तरफ से कुछ भी व्यवस्था नहीं की गई। यात्रियों को पानी तक नहीं दिया गया। काफी विलंब होने के बावजूद वरिष्ठ अधिकारी यात्रियों से मिलने नहीं आया और ना ही कोई सटीक जानकारी दे पा रहे थे। यात्रियों के गुस्से को देखते हुए कुछ पल के लिए एयर इंडिया के प्रबंधक जितेंद्र कुमार दास आए और बोले कि तकनीकी गड़बड़ी के कारण विलंब हो रहा है। हम तुरंत सूचित करेंगे और इसके बाद वह चले गए। विमान को सुबह 9.50 बजे उड़ान भरना था, लेकिन जब बोर्डिंग शुरू नहीं हुई तो लोगों को चिंता सताने लगी, क्योंकि दिल्ली से किसी की कनेक्टिंग फ्लाइट थी या किसी की ट्रेन थी। धीरे-धीरे लोगों के अंदर गुस्सा बढ़ता गया और जब एयर इंडिया की कोई अधिकारी नहीं आया तो यात्रियों का आक्रोश और चरम पर पहुंच गया।

लोगों के गुस्से को देखते हुए काफी देर के बाद एयर इंडिया के प्रबंधक यात्रियों के समक्ष आए और तकनीकी गड़बड़ी की बात कहे। सुरक्षा जांच के कारण अंदर पहुंच चुके यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। लगभग 3:30 घंटे के बाद यात्रियों को सैंडविच खाने में दिया गया और शाम को 3:30 बजे के आसपास चाय व गूड-डे बिस्किट दी गई। खबर लिखे जाने तक विमान के बारे में कोई स्पष्ट जानकारी कोई नहीं दे पा रहा था। यात्रियों ने बताया कि बताया जा रहा है कि 4:30 बजे के बाद विमान उड़ान भर सकता है। आरोप है कि भुवनेश्वर एयर इंडिया के अप्रबंधन के कारण यात्रियों को आर्थिक मानशिक व शारीरिक नुक़सान उठाना पड़ा।

Share this news

About desk

Check Also

नया ओडिशा, नवीन ओडिशा कार्यक्रम के जुट बैग खरीद में 2 सौ करोड रुपये का घोटाला –कांग्रेस

भुवनेश्वर, ओडिशा प्रदेश कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि राज्य के नवीन पटनायक सरकार द्वारा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

Advertisement