Home / Odisha / अरुण कुमार षाड़ंगी को डीजीपी का अतिरिक्त प्रभार

अरुण कुमार षाड़ंगी को डीजीपी का अतिरिक्त प्रभार

  • नियमित डीजीपी के शामिल होने तक संभालेंगे जिम्मेदारी

भुवनेश्वर। सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए अरुण कुमार षाड़ंगी को नियमित डीजीपी के शामिल होने तक ओडिशा के पुलिस महानिदेशक के अतिरिक्त प्रभार में बने रहने की अनुमति दी गई है। इस संबंध में ओडिशा गृह विभाग ने इस संबंध में एक अधिसूचना जारी की है। 1990 बैच के अधिकारी अरुण कुमार षाड़ंगी को दो अन्य लोगों के साथ 3 मई, 2023 को पुलिस महानिदेशक रैंक पर पदोन्नत किया गया था। अन्य दो सुधांशु षाड़ंगी और वाईबी खुरानिया थे, सभी 1990 बैच से हैं। वह वर्तमान में पुलिस, प्रशिक्षण के विशेष महानिदेशक और बीजू पटनायक राज्य पुलिस अकादमी (बीपीएसपीए) के निदेशक के रूप में कार्य कर रहे हैं। वर्तमान डीजीपी सुनील कुमार बंसल 31 दिसंबर को सरकारी सेवा से सेवानिवृत्त होने वाले हैं। ओडिशा सरकार ने पहले उन्हें सेवानिवृत्ति लेने की अनुमति दी थी। ओडिशा सरकार के गृह विभाग ने पहले एक अधिसूचना के जरिए फैसले की जानकारी दी थी। तब यह चर्चा थी कि राज्य सरकार ने नये डीजीपी की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बताया जाता है कि इसी कवायद के तहत राज्य सरकार ने पांच आईपीएस अधिकारियों की सूची केंद्र सरकार को भेजी है। जिन अधिकारियों के बारे में कहा जा रहा है कि वे डीजीपी की दौड़ में हैं, वे हैं अरुण कुमार षाड़ंगी, वाईबी खुरानिया और सुधांशु सारंगी। 1990 बैच के आईपीएस अधिकारी, खुरानिया वर्तमान में पूर्वी कमान बीएसएफ के विशेष महानिदेशक के रूप में कार्यरत हैं। इसी तरह, सुधांशु षाड़ंगी वर्तमान में ओडिशा अग्निशमन सेवा विभाग के महानिदेशक के रूप में कार्यरत हैं। वर्तमान में एसएसबी, नई दिल्ली के अतिरिक्त महानिदेशक के रूप में कार्यरत बी राधिका और ओडिशा के जेल महानिदेशक के रूप में तैनात एएम प्रसाद भी डीजीपी की दौड़ में हैं।

Share this news

About desk

Check Also

नया ओडिशा, नवीन ओडिशा कार्यक्रम के जुट बैग खरीद में 2 सौ करोड रुपये का घोटाला –कांग्रेस

भुवनेश्वर, ओडिशा प्रदेश कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि राज्य के नवीन पटनायक सरकार द्वारा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

Advertisement