Home / Odisha / सम्पत्ति मोड़ा अग्रश्री लाला लाजपत राय सम्मान से सम्मानित

सम्पत्ति मोड़ा अग्रश्री लाला लाजपत राय सम्मान से सम्मानित

  •  विशिष्ट सेवा कार्यकार्यों के लिए मिला सम्मान

कटक। ओडिशा की जानीमानी समाजसेविका सम्पत्ति मोड़ा को उनके विशिष्ट सेवा कार्यकार्यों के लिए कोलकाता के अंतर्राष्ट्रीय अग्रवाल सम्मेलन के प्रथम अग्र विभुति समारोह में अग्रश्री लाला लाजपत राय सम्मान से सम्मानित किया गया।

 अंतर्राष्ट्रीय अग्रवाल सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजकुमार मित्तल के नेतृत्व एवं राष्ट्रीय संयोजक ऊमा बंसल, सह संयोजक कन्हिया गोयल के कुशल मंच संचालन में देशभर से 32 विभुतियों को विभिन्न वर्गों में सम्मानित किया गया।

गौरतलब है कि सम्पत्ति मोड़ा कटक ओडिशा की एक प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित सामाजिक कार्यकर्ता लेखिका और स्वयं सेवक हैं। एक कुशल ग्रहणी, लेखिका, स्तंभकार, नारी जाति की स्वाभिमान वंचता, उपकारी और परोपकारी हैं। मोड़ा के जीवन का एक ही सिद्धांत है–निःस्वार्थ समाजसेवी सदैव अपने जीवन के रथ में आशाओं का अश्व जोतते हैं। वह अपनी साधना की बागडोर को मजबूती से पकड़ते हैं और उनकी मंजिल खुद ब खुद उनके पास चली आती है। सबके सुख-दुख में सदैव खड़ी रहने वाली संपत्ति मोड़ा के अनुसार हम सब खुश रहें और समाज को भी खुश रखें। मोड़ा जी ने बताया कि वह 1986 में ही निःस्वार्थ समाज सेवा से पूरी तरह से जुड़ी हुई है। समाज सेवा के लिए उनका समर्पित जीवन प्रेरणादायक है, अनुकरणीय एवं प्रशंशनीय है। वह अब तक सैकड़ों स्थानीय, राज्य स्तरीय और राष्ट्रीय स्तर की मान्य संस्थाओं से सक्रिय रूप से जुड़ी हुई हैं।

उनके अभूतपूर्व योगदान समाज सेवा, असहाय और दिव्यांग बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और मनोरंजन आदि के क्षेत्र में असाधारण रहा है। वह एक संवेदनशील मां, बहन और पत्नी हैं। समाज सेविका और हर प्रकार से नारी जाति का गौरव है। कन्या भ्रूण संरक्षण, दिव्यांग सेवा, महिला कल्याण, महिला सशक्तिकरण, महिला स्वावलंबन और महिला मान सम्मान जैसे अनेक ऐसे क्षेत्रों में वह सक्षम, अनुभवी और विवेकशील समाज सेविका की पर्याय हैं। दो बिछड़े दिलों को मिलाना, पति-पत्नी के आपसी मनमुटाव को दूर कर वैचारिक स्तर पर मिलना और उनके सुखी ग्रहस्थ जीवन की और उन्मुख करना ही उनकी खास पहचान है। वह अपनी वाक चातुरी से हंसते-हंसते पति-पत्नी को एक दूसरे से मिला देती हैं। चाहे कोई भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा हो आप हर समय 24 घंटे हर जनसाधारण के लिए सहजता से उपलब्ध रहती हैं। प्रशासन (पुलिस, मेयर और कलेक्टर) भी आपको इस विपदा की घड़ी में सहयोग के लिए बुलाते हैं।

Share this news

About desk

Check Also

BHUBANESHWAR

पिता दिवस पर काव्य गोष्ठी में श्रोताओं की आंखें हुईं नम

पिता की करुण अरदास ने मौजूदा परिस्थितों से रू-ब-रू कराया भुवनेश्वर। पिता दिवस के अवसर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *