Home / National / ममता बनर्जी ने दी हिदायत, जनता का काम होना चाहिए
mamata हेमंत सोरेन की पत्नी ने ममता बनर्जी को जनसभा के लिए आमंत्रित किया

ममता बनर्जी ने दी हिदायत, जनता का काम होना चाहिए

  • कहा- काम न होने पर वह आपको नहीं मुझे पकड़ेगी

लक्ष्मी शर्मा, गंगारामपुर

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एक्सन मोड में आ गईं हैं। आज पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गंगारामपुर के स्टेडियम में एक प्रशासनिक बैठक की, जिसमें सभी सचिव  भी उनके साथ उपस्थित थे। इनके साथ-साथ जिलाधिकारी, जिले के सभी ब्लॉक अधिकारी, ग्राम पंचायत समिति के सदस्य, जिला परिषद के सदस्य एवं जिला तृणमूल के स्थानीय नेता जिला तृणमूल की सभापति अर्पिता घोष, उत्तर बंगाल के विकास मंत्री बचू हांसदा, पूर्व मंत्री शंकर चक्रवर्ती के साथ ही बुनियादपुर गंगारामपुर नगरपालिका के चेयरमैन भी मौजूद थे। इन सभी के साथ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बातचीत की और जिले की खराब रिपोर्ट के बारे में सभी को सफाई देने को कहा। इस दौरान अधिकारियों ने कहा कि सभी काम अगले दो माह में हो जायेगा। इस पर मुख्यमंत्री ने सख्त हिदायत देते हुए कहा कि कैसे हो जाएगा और कैसे कर लेंगे आप लोग। सभी ध्यान से एक बात सुन लीजिए कि अपना-अपना काम आप अच्छे ढंग से और लोगों के लिए करें। यह जन-गण का पैसा है, जनता जनार्दन का पैसा है और उनका पैसा उन्हीं के काम में लगाना है। तब फिर आप आज होगा, कल होगा हो जाएगा, ऐसी बातें करने से काम नहीं चलेगा, क्योंकि जनता मुझे पहचानती है आपको नहीं। जब आप काम नहीं करेंगे तो वह मुझे ताने देती है, मुझे पकड़ेगी। इस बैठक के दौरान दक्षिण दिनाजपुर, उत्तर दिनाजपुर जिले के एग्रीकल्चर के बारे में विशेषकर बातें हुईं कि यहां धान, भुट्टा, प्याज बहुतायत में और अच्छी तादाद में पैदावार की जाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए आप बैठकर हमारे सेक्रेटरी से बातचीत करें। मुख्यमंत्री ने सरकारी सभी योजनाओं के बारे में हिदायत देते हुए कहा कि आप लोग इनके बारे में जानें, अलग-अलग से इन योजनाओं के बारे में ट्रेनिंग लें और फिर जनता को बताएं और जनता को इसका लाभ दें। इस काम में देरी नहीं होनी चाहिए। पहले आप खुद जानें और फिर लोगों को बताएं और फिर लोगों को इस लाभ को उठाने के लिए सहयोग करें। जैसे स्वास्थ्य साथी ग्राम पंचायत के सदस्यों को भी इन सबकी ट्रेनिंग दी जाए। जब उन्होंने पूछा कि कितने लोग स्वस्थ साथी के बारे में जानते हैं? भैया इसकी परिभाषा दे पाएंगे तब ग्राम पंचायत के लोगों में से सिर्फ तीन लोगों ने हाथ उठाया। उन्होंने कहा कि जब आप खुद ही नहीं जानते, तो लोगों को क्या बताएंगे। इससे पहले आप खुद जाने और लोगों को लाभ आवंटित करें। आज बैठक में सबसे पहले मुख्यमंत्री ने कश्मीर से वापस आए हुए दक्षिण दिनाजपुर जिला के कुल 112 श्रमिक कों 50000 रुपए का चेक दिया गया, ताकि वह कुछ करके अपना जीवन यापन कर सकें। 50000 की धनराशि पाकर श्रमिक काफी खुश दिखाई दिए।

Share this news

About desk

Check Also

बंगाल में रेल दुर्घटना : कांग्रेस और भाकपा ने कंचनजंघा एक्सप्रेस हादसे के लिए व्यवस्था को दोषी ठहराया

नई दिल्ली। भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी (भाकपा) के नेता डी राजा और कांग्रेस के नेता प्रमोद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *