Home / Odisha / पुलिस जान बुझकर चार्जशीट को कमजोर कर रुपेश भद्र को जमानत देने का किया है षडयंत्र–भाजपा

पुलिस जान बुझकर चार्जशीट को कमजोर कर रुपेश भद्र को जमानत देने का किया है षडयंत्र–भाजपा

  • शालीनता भूल रही हैं लेखाश्री–बीजद

भुवनेश्वर । जाजपुर जिले के धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के हरिदांसपुर पंचायत के महिला  कर्मचारी के साथ सामूहिक दुष्कर्म व हत्या के मामले को ढाई माह बीत जाने के बाद भी इसपर पर्दा नहीं हट पाया है। पुलिस इस मामले में कमजोर चार्जशीट देकर बीजद नेता रुपेश भद्र को बचाने का प्रयास कर रही है। भाजपा के प्रदेश सचिव डा लेखाश्री सामंतसिंहार ने पार्टी कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही। उन्होंने कहा कि पुलिस पहले ही दिन से पीड़िता के चरित्र हनन कर मामले को रफा दफा करने का प्रयास किया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपित रुपेश भद्रा को हिरासत में नहीं लिया है। उन्होंने सवाल किया कि किस आधार पर पुलिस ने इस मामले में आरोपित को हिरासत में लिय़े बिना 2 हजार  पृष्ठों का चार्जशीट प्रदान किया। उनकी पोस्टमोर्टम की रिपोर्ट में गला दबकर हत्या होने की बात कही गई है। किसी ने उन्हें गला दबाकर या फिर रस्सी से दबाकर हत्या किया हो, ऐसा हो सकता है। इस मामले में पुलिस ने केवल रुपेश भद्र को ही गिरफ्तार किया है। घटनास्थल पर चार बीजद कार्यकर्ता व रामको सीमेंट कंपनी के अधिकारी भी थे, लेकिन पुलिस ने ढाई माह बीत जाने के बाद भी उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया है। उन्होंने फिर से आरोप लगाया कि रामको कंपनी ने गैरकानूनी तरीके से जमीनें कब्जा किया हुआ है। इस गैरकानूनी कार्य को कानूनी करने के लिए पंचायत के महिला अधिकारी पर दबाव बनाया गया और उनके न मानने के बाद उनके साथ दुष्कर्म व हत्या की गई। अब पुलिस मामले को आत्महत्या का रुप देना चाह रही है। इस पत्रकार सम्मेलन में भाजपा किसान मोर्चा के महासचिव सुरथ बिश्वाल भी उपस्थित थे।

शालीनता भूल रही हैं लेखाश्री–बीजद

लेखाश्री सामंत सिंहार 2014  व 2019 में बीजद के पास टिकट के लिए आयी थीं, लेकिन पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया। इस कारण वह शालीनता भूल कर इस तरह के आरोप लगा रही हैं। उन्होंने कहा कि 2019 के आम चुनाव से पूर्व हमारे पार्टी के तुषारकांति बेहेरा व भागिरथी सेठी को लेखाश्री ने कहा था कि वह भाजपा में घुटन महसूस कर रही हैं। इससे भाजपा में उनकी स्थिति का पता चल रहा है। उन्होंने कहा कि  बीजद हमेशा से ही महिलाओं के प्रति संवेदनशील रहा है। इस मामले मे बीजद राजनीति नहीं करना चाहती। उन्होंने का कि भाजपा के पास यदि किसी प्रकार का प्रमाण है तो उसे पुलिस, कोर्ट या आम लोगों के सामने प्रस्तुत करे। 

Share this news

About desk

Check Also

पांडियन 10 जून तक वापस करें रत्नभंडार की चाभी – हिमंत विश्वशर्मा

कहा-अन्यथा उसे हम ढूंढ निकालेंगे कविसूर्यनगर में भाजपा प्रत्याशी के लिए किया प्रचार भुवनेश्वर। असम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *