Home / National / राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने संदेशखाली की स्थिति पर बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी
इण्डो एशियन टाइम् Indo Asia Times ब्रेंकिंग न्यू, ताजा खबर आज का खबर खबरें चलाओ खबरें चलाओ बोलकर देखें ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी today ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी today headlines ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी up ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी today live ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी आज तक लाइव झारखण्ड ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी आज 15 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 14 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,बड़ी खबरें,हिंदी खबरें,आज 27 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 29 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 30 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 16 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 04 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 13 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 12 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 07 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 05 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 11 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 08 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार ब्रेकिंग न्यूज़ ताजा खबर,हिंदी खबरें,आज की ताज़ा ख़बर,राज्य समाचार,04 अक्टूबर 2023,11अक्टूबर 2023,भारत पाकिस्तान प्रेम कहानी,पाकिस्तानी महिला सीमा हैदर,आज 03 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार,आज 05 सितंबर 2023 के मुख्य समाचार

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने संदेशखाली की स्थिति पर बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी

नई दिल्ली। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (एनसीएससी) ने उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली की स्थिति पर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है। यहां फरार तृणमूल कांग्रेस नेता शेख शाहजहां और उसके सहयोगियों पर अनुसूचित जाति की महिलाओं ने उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया था।

संदेशखाली में बढ़ती अशांति को देखते हुए शनिवार से निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है और इंटरनेट के इस्तेमाल पर अनिश्चितकाल के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है। राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) की एक टीम ने उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट उपमंडल का दौरा किया, जिसके अधिकार क्षेत्र में संदेशखाली आता है।
पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली में महिलाओं द्वारा फरार तृणमूल कांग्रेस नेता शेख शाहजहां और उसके सहयोगियों द्वारा उत्पीड़न और छेड़छाड़ की हरकत करने के बाद एनसीएससी ने इसका संज्ञान लिया है। आयोग का एक दल गुरुवार को वहां का दौरा करेगा।

आयोग ने मंगलवार को सार्वजनिक किए गए एक पत्र में कहा, ‘‘आयोग ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 338 के तहत उसे प्रदत्त शक्तियों के तहत मामले की जांच तथा पूछताछ करने का निर्णय लिया है।’’
साभार -हिस

Share this news

About desk

Check Also

ज्ञान के बल पर अगले 25 वर्षों में विश्व का नेतृत्व करेगा भारत : ओम बिरला

नई दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शनिवार को कहा कि देश ‘आत्मनिर्भर भारत’ की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

Advertisement