Tuesday , October 20 2020
Breaking News
Home / Odisha / मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने पुरी का किया दौरा, श्रीमंदिर के बाहर सम्पूर्ण परिक्रमा की

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने पुरी का किया दौरा, श्रीमंदिर के बाहर सम्पूर्ण परिक्रमा की

  • अबड़ा स्कीम और श्री जगन्नाथ हेरिटेज कॉरिडोर के सभी पहलुओं के विवरण की समीक्षा की

पुरी. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने आज पुरी का दौरा किया तथा महाप्रभु श्रीजगन्नाथ के मंदिर के बाहर सम्पूर्ण परिक्रमा की. पटनायक ने सबसे पहले सिंहद्वार से सबसे पहले पतिपावन की दर्शन की तथा प्रार्थना की. नीलचक्र के दर्शन किए और ओडिशा के लोगों की भलाई के लिए भगवान जगन्नाथ से प्रार्थना की. मुख्यमंत्री ने भी जगन्नाथ मंदिर की परिक्रमा भी की. इसके बाद मुख्यमंत्री ने अबड़ा स्कीम और श्री जगन्नाथ हेरिटेज कॉरिडोर के सभी पहलुओं के विवरण की समीक्षा की.

इस दौरान एमार मठ के दक्षिण पूर्व की ओर से उन्होंने उन व्यवस्थाओं की समीक्षा की, जहां से क्यू मैनजमेंट प्रणाली के लिए योजना बनाई जा रही है. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि भक्तों को मंदिर के सिंहद्वार से परेशानी मुक्त प्रवेश करने की व्यवस्था होनी चाहिए. साथ ही पंक्तिबद्ध होकर इंतजार करने वाले श्रद्धालुओं के लिए आराम की पर्याप्त व्यवस्था की जानी चाहिए. सेफ्टी और स्कियोरिटी के लिए मुख्यमंत्री ने प्रौद्योगिकी का उपयोग करने की सलाह दी.

दक्षिण किनारे से मेघनाथ दीवार की समीक्षा करते हुए उन्होंने पेड़ों से छायादार युक्त बनाने की सलाह दी, ताकि परिक्रमा करने में लोगों को सहज हो. साथ ही हेरिटेज कॉरिडोर को इस तरह से डिज़ाइन किया जाना चाहिए कि विकलांग व्यक्ति परिक्रमा के दौरान खुद ही घूमने में सक्षम हों.

पश्चिमी दिशा से समीक्षा करते हुए उन्होंने सलाह दी कि मास्टर प्लान में इलेक्ट्रिक सबस्टेशन या नियंत्रण जैसी कोई उपयोगिता मेघनाथ दीवार के बगल में नहीं होनी चाहिए. वर्तमान सेसू नियंत्रण कक्ष को स्थानांतरित किया जा सकता है. साथ ही दूर से आने वाले भक्तों के लिए उनके सामान रखने की पर्याप्त व्यवस्था की जानी चाहिए. उत्तरी दिशा की समीक्षा करते हुए उन्होंने एक बार में बड़ी संख्या में लोगों को महाप्रसाद परोसने के लिए पर्याप्त व्यवस्था करने की सलाह दी.

बुजुर्ग भक्तों के लिए इलेक्ट्रिक गाड़ियों की पर्याप्त व्यवस्था करने को कहा, ताकि वे किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना न करना पड़े. मुख्यमंत्री ने आगामी एक जनवरी तक भूमि अधिग्रहण प्रक्रिया को पूरा करने और श्री जगन्नाथ हेरिटेज कॉरिडोर पर काम शुरू करने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने फिर से उन लोगों को धन्यवाद दिया, जिन्होंने परियोजना के लिए जमीन दान की है और उन्होंने जिला प्रशासन के विभिन्न विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों को उनकी मेहनत के लिए की सराहना की. मुख्यमंत्री के साथ विकास आयुक्त सुरेश चंद्रा महापात्र तथा मुख्यमंत्री के सचिव व 5-टी सचिव वीके कांडियन भी थे.

About desk

Check Also

पत्रकारों ने रास्ते पर घायल पड़े व्यक्ति को अस्पताल तक पहुंचाया

राजगांगपुर. यहां के पत्रकारों ने रास्ते पर घायल पड़े व्यक्ति को अस्पताल तक पहुंचाया और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *