Home / Odisha / ओडिशा-छत्तीसगढ़ सीमा पर हाई अलर्ट, चार जिलों की सीमाएं सील

ओडिशा-छत्तीसगढ़ सीमा पर हाई अलर्ट, चार जिलों की सीमाएं सील

  • 29 नक्सलियों के मारे जाने के बाद सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा हुई कड़ी

भुवनेश्वर। 2024 के चुनावों से पहले पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में एक बड़े नक्सल विरोधी अभियान में 29 नक्सलियों के मारे जाने के बाद ओडिशा-छत्तीसगढ़ सीमा क्षेत्रों में हाई अलर्ट जारी किया गया है। ओडिशा के मालकानगिरि से लगे सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

इलाके में चेकिंग और नाकाबंदी बढ़ा दी गई है। सुरक्षाबलों ने चुनाव से पहले किसी भी हिंसा को रोकने के लिए सीमावर्ती इलाकों में तलाशी और तलाशी अभियान तेज कर दिया है।

मालकानगिरि में छत्तीसगढ़ को जोड़ने वाली सीमावर्ती सड़कों को सील कर दिया गया है, जबकि दोनों राज्यों की पुलिस माओवादियों की आवाजाही पर खुफिया जानकारी साझा कर रही है।

सूत्रों ने बताया कि नवरंगपुर, नुआपड़ा, मालकानगिरि और कोरापुट में सीमावर्ती इलाकों को सील कर दिया गया है।

मुठभेड़ विशेषज्ञ लक्ष्मण केवट, जिन्होंने मंगलवार को छत्तीसगढ़ के कांकेर में माओवादी विरोधी अभियान का नेतृत्व किया था, ने मीडिया को दिये गये बयान में कहा है कि सुरक्षाबलों को सीपीआई-माओवादियों के बारे में खुफिया जानकारी मिली थी नक्सली एकत्र हो गए हैं, जो आगामी चुनावों को बाधित करना चाहते थे। इस पर सुरक्षाबल तुरंत कार्रवाई में जुट गया। उन्होंने कहा कि जैसे ही जवान समीप पहुंचे नक्सलियों ने हम पर गोलीबारी शुरू कर दी। हमने उनसे सरेंडर करने को कहा, लेकिन उन्होंने नहीं सुनी। सुरक्षाबलों को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी।

मालकानगिरि में नक्सलियों की घुसपैठ की पूरी संभावना

उल्लेखनीय है कि नक्सल प्रभावित बस्तर जिले की सीमा ओडिशा के मालकानगिरि से लगती है। इस मुठभेड़ के बाद मालकानगिरि में नक्सलियों की घुसपैठ की पूरी संभावना है। इस खतरे को देखते हुए इलाके में तैनात ओडिशा पुलिस और बीएसएफ कड़ी निगरानी रख रही है।

डीजीपी ने सीमा पर लिया था स्थिति का जायजा

दो दिन पहले, ओडिशा के डीजीपी ने सीमा के पास स्थिति का जायजा लिया था और कहा कि पुलिस माओवादियों को लेकर सतर्क है, जो पहले चरण के चुनाव से पहले मालकानगिरि में प्रवेश कर सकते हैं। अब सीमाओं को सील करते हुए वाहनों की जांच की जा रही है।

सुंदरगढ़ के सीमावर्ती इलाकों के पास भी तलाशी अभियान तेज

इस बीच, सुंदरगढ़ जिले के सीमावर्ती इलाकों के पास भी तलाशी अभियान तेज कर दिया गया है।

इधर, झारखंड में गोइलकेरा थाना क्षेत्र के टेंटो जंगल में एक माओवादी शिविर का भंडाफोड़ किया गया है और भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री जब्त की गई। जब्त किए गए सामानों में 2.5 किलोग्राम बारूद, 5 किलोग्राम अमोनिया नाइट्रेट पाउडर, 1 किलोग्राम सल्फर पाउडर और जहर से ढके तार शामिल थे। इसे लेकर सुंदरगढ़ में तलाशी अभियान तेज कर दिया गया है।

राउरकेला के एसपी ब्रिजेश राय ने कहा कि माओवादी विरोधी अभियान हमारी सीमा से बहुत दूर है। हमने सीमाओं पर तैनात बलों को सतर्क कर दिया है। हमने विकास के बारे में बलों के साथ संवाद किया है और उन्हें गश्त और जांच बढ़ाने के लिए कहा है।

Share this news

About desk

Check Also

संबित ने पहले जगन्नाथ को बताया मोदी का भक्त, फिर क्षमा मांगी, प्रायश्चित को तीन दिन उपवास  

महाप्रभु के चरणों में भाजपा प्रवक्ता ने मांगी क्षमा भुवनेश्वर। पुरी लोकसभा सीट से भाजपा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *