Home / Odisha / बीजद विधायक प्रफुल्ल सामल व उनके पुत्र के ईडी का समन
बीजद विधायक प्रफुल्ल सामल व उनके पुत्र के ईडी का समन Prafulla Samal

बीजद विधायक प्रफुल्ल सामल व उनके पुत्र के ईडी का समन

  • जमीन के संबंध में सभी दस्ताबेजों के साथ पेश होने के लिए कहा

भुवनेश्वर। पूर्व मंत्री तथा बीजद के वरिष्ठ विधायक प्रफुल्ल सामल व उनके परिवार की समस्याएं कम होती नहीं दिख रही हैं। बड़पदा इंजीनियरिंग कालेज की जमीन के मामले में प्रवर्तन निर्देशालय (ईडी) ने उनके विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी के बाद अब उन्हें समन जारी किया है। ईडी ने विधायक प्रफुल्ल सामल तथा उनके पुत्र प्रयास कांति सामल को जमीन के संबंध में सभी दस्ताबेजों के साथ प्रवर्तन निर्देशालय के सामने पेश होने के लिए कहा है।

उल्लेखनीय है कि गत गुरुवार को प्रवर्तन निर्देशालय की टीम ने सामल के आवास व अन्य ठिकानों पर छापेमारी की थी। भद्रक शहर में छह स्थानों और भुवनेश्वर में चार स्थानों पर छापे मारे गये थे। इस दौरान उनके  पुत्र के यहां से लगभग दस लाख रुपये नकद व फार्चुनर वाहन को बरामद किया था।

यह आरोप लगाया गया है कि मंत्री और उनके बेटे प्रयासकांति सामल बड़पाड़ा इंजीनियरिंग कॉलेज से जुड़े करोड़ों रुपये के घोटाले में शामिल हैं। साथ ही भुवनेश्वर और अन्य स्थानों में जमीन और फ्लैट खरीदने के लिए छात्रों से शुल्क के रूप में एकत्र किए गए करोड़ों रुपये का घोटाला किया है। यहां यह बताना प्रासंगिक है कि कॉलेज में वित्तीय अनियमितताओं के इसी मुद्दे पर भद्रक में पहले भी विरोध प्रदर्शन हो चुका है।

प्रायसकांति बीजू जनता दल (बीजद) के छह बार के विधायक प्रफुल्ल सामल के बेटे हैं। प्रफुल्ल सामल (76) भंडारीपोखरी विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के नेतृत्व वाले बीजद के संस्थापक सदस्य हैं।

पीएमएलए के तहत दर्ज है मामला

बताया गया है कि पीएमएलए के तहत दर्ज किया गया ईडी का मामला 2016 में ओडिशा पुलिस द्वारा दर्ज की गई एक प्राथमिकी पर आधारित है। ईडी ने कहा कि बीएसईटी के पूर्व अध्यक्ष प्रयासकांति सामल, इसके सचिव मनोज कुमार गोस्वामी और अन्य कथित तौर पर “जालसाजी और धोखाधड़ी” द्वारा सोसायटी की निधि के दुरुपयोग में शामिल थे। एजेंसी ने एक बयान में कहा है कि प्रयासकांति सामल ने सोसायटी के अन्य सहयोगियों के साथ वित्तीय अनियमितताओं के जरिए करोड़ों रुपये का गबन किया। यह भी आरोप लगाया गया है कि वे जाली और मनगढ़ंत दस्तावेजों की मदद से अपने व्यक्तिगत मौद्रिक लाभ के लिए धन और संपत्तियों (बीएसईटी के नाम पर अर्जित) के गबन में संलिप्त थे।

इस खबर को भी पढ़ेंः-बौध के आरटीओ की गिरफ्तारी झूमे चालक और वाहन मालिक

तलाशी के दौरान 9 लाख नकद मिले

केंद्रीय एजेंसी ने आगे कहा कि तलाशी के दौरान नौ लाख रुपये नकद और 40 लाख रुपये की टोयोटा फॉर्च्यूनर एसयूवी जब्त की गई। ईडी ने कहा कि विभिन्न परिसर से बिना तारीख वाले चेक, जमीन से जुड़े कागजात और डिजिटल उपकरणों सहित अन्य दस्तावेज भी जब्त किए गए हैं।

Share this news

About admin

Check Also

राज्य चुनाव अधिकारी से मिला भाजपा का प्रतिनिधिदल

कहा-बीजद नेता व मो-सरकार मिलकर चुनाव कर रहे हैं प्रभावित भुवनेश्वर। चुनाव जीतने के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *