Wednesday , May 25 2022
Breaking News
Home / International / विदेशी मीडिया में छाया अयोध्या पर फैसला

विदेशी मीडिया में छाया अयोध्या पर फैसला

वाशिंगटन- भगवान श्री राम की जन्मभूमि पर आया फैसला न सिर्फ भारत में अपितु विदेशी मीडिया में छाया रहा। इस फैसले पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी हुई थी। शनिवार को फैसला आने के बाद यह खबर विदेशी मीडिया अलग-अलग तरह से छाया रहा। राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद करीब चार सौ साल चल रहा था। बाबर के सूबेदार मी बाकी ने भगवान के जन्मस्थल पर एक मस्जिद बनवाई थी। अमेरिकी समाचार पत्र न्यूयॉर्क टाइम्स ने इस समाचार को विस्तार से जगह दी है। उसने लिखा है कि कोर्ट बैकस हिन्दूज ऑन अयोध्या’। इसके अलावा अखबार ने अपने लेख का शीर्षक दिया है, हैंडिंग मोदी विक्टरी ‘इन हिज बिड टू रिमेक इंडिया’।

अखबार ने लिखा है कि भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने काफी पुराने मामले में हिन्दुओं  के पक्ष में फैसला सुनाया है। इस विवादित स्थल पर मुसलमान भी दावा कर रहे थे। यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके समर्थकों को धर्मनिरपेक्ष बुनियद से हटकर हिन्दू राष्ट्र बनाने की ओर बड़ी जीत है। एक अन्य अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट ने लिखा है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करना भारतीय जनता पार्टी  और अन्य हिन्दू राष्ट्रवादियों का बड़ा लक्ष्य था। मोदी चुनाव जीतने के बाद इस एजेंडा को पूरा करने में लग गए थे। अदालत ने मुस्लिम पक्ष के तर्कों को दरकिनार कर विवादित जमीन पर हिन्दुओं को अधिकार दे दिया है जो प्रधानमंत्री मोदी की बड़ी जीत है। हालांकि मुस्लिम पक्ष को अलग से जमीन दी गई है। पाकिस्तान के समाचार पत्र डॉन ने लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को अयोध्या में विवादित जमीन हिन्दू पक्षकारों को देने का फैसला किया है। इस जगह पर 16 वीं सदी की एक मस्जिद थी जिसे साल 1992 में गिरा दी गई थी। मुस्लिम पक्ष को अलग से जमीन दी गई है। इसके अलावा समाचार पत्र द गाजिर्यन ने सर्वोच्च न्ययालय के फैसले को भारतीय जनता पार्टी के लिए बड़ी जीत बताया है।

About desk

Check Also

पाकिस्तान की पंजाब असेंबली में भारी हंगामा, डिप्टी स्पीकर के साथ मारपीट

इस्लामाबाद, पाकिस्तान की पंजाब विधानसभा में शनिवार को जमकर हंगामा हुआ। पंजाब का नया मुख्यमंत्री …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram