Wednesday , November 30 2022
Breaking News
Home / Odisha / मकर संक्रांति – हिंदी विकास मंच का बंधुमिलन आयोजित

मकर संक्रांति – हिंदी विकास मंच का बंधुमिलन आयोजित

  • हिन्दी का मान बढ़ाने के लिए कई अतिथि सम्मानित

  • भुनेश्वर-कटक के बीच बढ़ा भाईचारा का दायरा

भुवनेश्वर. भगवान जगन्नाथ की धरती ओडिशा में मकर संक्रांति बड़े ही आस्था के साथ मनाई गई. नदियों तथा पुरी समुद्र में श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई तथा मान्यताओं के अनुसार दान भी किये. आज सुबह से श्रीमंदिर में महाप्रभु श्रीजगन्नाथ के मकर वेश में दर्शन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी रही. राजधानी में भुवनेश्वर में हर साल की तरह से इस साल भी समाज सेवा के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाए हुए हिंदी विकास मंच ने बंधु मिलन का आयोजन किया.

इस दौरान मंच से जुड़े सभी सदस्य मकर संक्रांति पर प्रीति भोज में शामिल होकर पारंपरिक खाद्य दही-चूड़ा, तिलकुट आदि का लुत्फ उठाया. इस प्रीतिभोज में बिहार, उत्तर प्रदेश एवं झारखंड की परंपरा की झलक देखने को मिली. इस अवसर पर कटक के लोगों को आमंत्रित कर हिंदी विकास मंच ने भाईचारा का मिसाल कायम किया. इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में हिन्दी का मान बढ़ाने के लिए कई लोगों को सम्मानित किया गया, जिसमें बीजेडी अप्रवासी सामुख्य के राज्य संयोजक नंदलाल सिंह, कटक महानगर छठ पूजा समिति के अध्यक्ष एवं सैल्यूट तिरंगा के प्रदेश अध्यक्ष शैलेश कुमार वर्मा, पत्रकार शेषनाथ राय, सैल्यूट तिरंगा ओडिशा प्रदेश के उपाध्यक्ष मनोज शर्मा तथा नवभारत के संपादक सह इण्डो एशियन टाइम्स के प्रबंध संपादक हेमंत तिवारी प्रमुख रूप से शामिल थे.

युवा समाजसेवी एवं व्यवसायी अरुण कुमार मिश्रा ने सभी अतिथियों का भावपूर्ण स्वागत किया तथा हिन्दीभाषी समाज की एकजुटता पर खुशी जताई. उन्होंने कहा कि आज हिन्दीभाषी समाज से जुड़े लोग विभिन्न क्षेत्रों में हिन्दी का मान स्थापित कर रहे हैं.

आज के कार्यक्रम के आयोजन में संस्था के अध्यक्ष अरुण कुमार उपाध्याय, सचिव पीके अमर, कोषाध्यक्ष शंकर यादव, डा मुकेश पोद्दार, अरुण गिरी, चंद्रशेखर, गणेश वर्मा, प्रमोद कुमार, अनिल सिंह, पवन सिंह, कुमोद कुमार, आनंद मोहन, धनंजय कुमार सिंह, राम पदारथ राय, मनीष झा, कुणाल गोस्वामी, संतोष ठाकुर सहित हिंदी विकास मंच के सभी सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा.

About desk

Check Also

बालेश्वर में जैन मुनियों का भव्य स्वागत

संतों का स्वागत त्याग, संयम व सदाचार का स्वागत है- मुनि जिनेश कुमार बालेश्वर। आचार्य …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram