Wednesday , October 20 2021
Breaking News
Home / Odisha / ओडिशा में हड़ताल से जनजीवन प्रभावित

ओडिशा में हड़ताल से जनजीवन प्रभावित

  • कांग्रेस व वामपंथी पार्टियों के बंद को राज्य की जनता ने नकारा – भाजपा

  • भाकपा व एटक ने बंद को बताया सफल 

संबलपुर में हड़ताल के कारण पसरा सन्नाटा।

भुवनेश्वर-ओडिशा में आज हड़ताल से जनजीवन प्रभावित रहा। तोड़फोड़ और हिंसा के डर से दुकानें, कार्यालय, विद्यालय, बाजार बंद रहे। चार पहिया वाहन और बसें नहीं चलीं। केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों द्वारा आहुत हड़ताल के कारण राजधानी भुवनेश्वर समेत विभिन्न इलाकों में जनजीवन प्रभावित हुआ है। हड़ताल के कारण भुवनेश्वर शहर में दुकानें बंद हैं तथा निजी बस चल नहीं रहे हैं। साथ ही ट्रेन सेवा को भी आंदोलनकारियों द्वारा बाधित किया गया है। सड़कों पर आटो नहीं चल रहे हैं। वामपंथी ट्रेड यूनियन से जुड़े लोग सुबह से ही हाथ में लाल झंडा लिये शहर के विभिन्न प्रमुख चौकों पर पिकेटिंग करते दिखे, लेकिन इन सबको बावजूद दो पहिया वाहन सड़कों पर चल रहे हैं। पूर्व तट रेलेवे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, राज्य के विभिन्न स्थानों पर ट्रेनें रोकी गई है। इस कारण अनेक ट्रेनें विभिन्न स्थानों पर खड़ी हैं। भुवनेश्वर में भुवनेश्वर-बलांगीर पैसंजर, पुरी-राउरकेला पैसेंजर रुकी हुई हैं। भद्रक में भद्रक- ब्रह्मपुर पैसेंजर व केन्दुझर में केन्दुझर–भुवनेश्वर पैसेंजर ट्रेन रुकी है। भुवनेश्वर के बरमुंडा बस अड्डे से बस नहीं चल रही है। इस कारण अनेक यात्री फंसे हुए हैं। जेईई मेन परीक्षा होने के कारण परीक्षार्थियों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। यह परीक्षा 6 जनवरी से शुरु होकर 9 को समाप्त होनी है। ट्रेड़ यूनियनों के कार्यकर्ता भुवनेश्वर के विभिन्न चौकों पर पिकेटिंग करते दिखे। बंद के समर्थन में मास्टर कैंटिन चौक पर कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता शामिल हुए। पुलिस आंदोलनकारियों को समझाने बुझाने के साथ-साथ उन्हें गिरफ्तार करते हुए दिखे। बंद के कारण पेट्रोल पंप बंद रहे। पेट्रोल पंपों के बंद रहने के कारण बाइक सवार लोगों कों पेट्रोल पंप के बाहर बोतल में अधिक कीमतों पर पेट्रोल खरीदना पड़ा। कांग्रेस नेता तथा पूर्व सांसद रामचंद्र खुंटिया, शिवानंद राय़, जयदेव जेना, संग्राम केशरी जेना वामपंथी नेता राधाकांत सेठी, जनार्दन पति, रामकृष्ण पंडा, धुर्जटी दास, महेन्द्र परिडा व अन्य नेताओं को पुलिस ने आंदोलन के दौरान गिरफ्तार कर लिया। बंद को ध्यान में रखकर राज्य के कुछ जिलों में स्कूलों को बंद रखने की घोषणा की गई थी और इस कारण स्कूलें बंद हैं। कंधमाल, गंजाम, ढेंकानाल, खुर्दा, भद्रक, रायगड़ा, झारसुगुड़ा, नयागढ़, जाजपुर, मालकानगिरि व केन्द्रापड़ा जिले में स्कूलें बंद रहे। विधानसभा व सचिवालय के गेटों को सुबह 10.15 बजे बंद कर दिया गया। इससे पहले अधिकारी व कर्मचारी कार्यालय में पहुंच चुके थे। विधानसभा व सचिवालय के बाहर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये गये थे।

कांग्रेस व वामपंथी पार्टियों के बंद को राज्य की जनता ने नकारा – भाजपा

कांग्रेस व वामपंथी पार्टियों द्वारा बुलाये गये बंद ओडिशा में बुरी तरह विफल रहा है । आज जनजीवन पूरी तरह स्वाभविक था। बंद के दौरान हिंसा करने की कांग्रेस की पुरानी परंपरा को ध्यान में रख कर दुकानदारों व बस मालिकों ने दुकानें व बसों को बंद रखा था। भुवनेश्वर समेत राज्यभर में इन दोनों पार्टियों द्वारा बुलाये गये बंद को लोगों ने नकार दिया है। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष समीर मोहंती ने पार्टी कार्यालय में एक पत्रकार सम्मेलन में यह बात कही। उन्होंने कहा कि देश की जनता ने वामपंथी व कांग्रेस को चुनावी मैदान में नकार दिया है। पूरा देश आज प्रधानमंत्री मोदी के साथ विकास में शामिल है। ऐसी स्थिति में हताशा में इन दोनों पार्टियों ने बंद बुलाया था। उन्होंने कहा कि ये पार्टियां बंद क्यों कर रही थी उसके बारे में भी स्पष्टता नहीं थी। आंदोलनकारियों को यही नहीं पता था कि आंदोलन क्यों किया जा रहा है।

भाकपा व एटक ने बंद को बताया सफल 

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी व एटक ने बुधवार को बुलाये गये बंद को सफल बताया है। साथ ही भाकपा ने इसकी सफलता के लिए लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया है। भाकपा व एटक के कार्यकर्ता पार्टी के प्रदेश सचिव आशीष कानूनगो  व अन्य नेताओं के साथ पार्टी कार्यालय से सैकड़ों कार्यकर्ताओं को लेकर पार्टी कार्यालय से रैली निकालकर भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। वहां उन्होंने कोरोमंडल एक्सप्रेस, पुरी-राउरकेला विशाखा एक्सप्रेस आदि के सामने रेलवे धरना पर बैठे रहे। इसके बाद पार्टी कार्यकर्ता मास्टर कैंटिन इलाके में जाकर दुकानों व वाहनों को बंद करने के साथ-साथ बापूजी नगर, राजमहल चौक, कल्पना चौक आदि इलाकों में पिकेटिंग की। दोपहर दस बजे स्टेट बैंक के रिजनाल शाखा व एक नंबर मार्किट में बंद किया। चंद्रशेखरपुर के रेलवेकुंज के सामने पार्टी कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। इस आंदोलन में पार्टी के दो सौ कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया। 

About desk

Check Also

ओड़िशा में कोरोना संक्रमण के 556 नए मामले, 4 की मौत

नए संक्रमित मरीजों में 87 की उम्र 18 साल से कम  भुवनेश्वर ओड़िशा में कोरोना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram