Saturday , October 1 2022
Breaking News
Home / Odisha / एस्प्लानेड कर्मचारियों ने महिला पत्रकार के साथ बदसलुकी किया, पत्रकारों का आंदोलन 

एस्प्लानेड कर्मचारियों ने महिला पत्रकार के साथ बदसलुकी किया, पत्रकारों का आंदोलन 

  • दोषियों पर जांच के बाद होगी कार्रवाई – पुलिस डीसीपी

भुवनेश्वर – गैरकानूनी तरीके से पार्किंग शुल्क वसूली को लेकर समाचार प्रसारण करते समय एस्प्लानेड माल के कर्मचारियों द्वारा महिला पत्रकार व कैमरामैन के साथ बदसलुकी, धक्कामुक्की कर बंधक रखने के मामले को लेकर पत्रकारों में व्यापक रोष है। इस मुद्दे पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग को लेकर कर्मजीवी पत्रकारों ने माल के सामने सुबह से धरना दिया। इस दौरान पत्रकारों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने के साथ-साथ दोषियों को तत्काल पकड़ने की मांग की। इस धरना कार्यक्रम में शामिल ओडिशा यूनियन आफ जर्नालिस्ट के अध्यक्ष प्रसन्न मोहंती ने इस अवसर पर कहा कि जिस ढंग से कार्यरत महिला पत्रकार के साथ बदसलुकी की गई, वह निंदनीय है। इस घटना ने साफ कर दिया है कि राज्य में पत्रकार कितनी विपरीत स्थितियों  में कार्य कर रहे हैं। अभी तक इस मामले में कार्रवाई न होना अत्यंत दुखद है। उन्होंने कहा कि दोषियों को तत्काल गिरफ्तार करने के लिए संघ मांग करता है। साथ ही पत्रकारों की सुरक्षा के लिए तत्काल कानून बनाने के लिए वह अपने पुराने मांग को दोहराते हैं। इस  आंदोलन के दौरान सैकड़ों की संख्या में पत्रकार शामिल हुए तथा माल प्रशासन, राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। पत्रकारों ने एस्प्लानेड की दादागिरी नहीं चलेगी, आदि नारे लगाये। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच धरना देते हुए आंदोलन कर रहे पत्रकारों को समझाने बुझाने का प्रयास किया, लेकिन आंदोलनरत पत्रकार नहीं माने तथा आंदोलन को जारी रखा। उल्लेखनीय है कि शनिवार शाम को एक वेब चैनल द्वारा इस माल में गैरकानूनी तरीके से पार्किंग शुल्क वसूले जाने संबंधी खबर प्रसारण  किया जा रहा था। तभी इस माल के सुरक्षा कर्मचारियों ने महिला पत्रकार स्वाति जेना व कैमरामैन प्रमोद महापात्र से बदसलुकी गालीगलौज करने के साथ-साथ उनसे कैमरा छिन लिया। माल के कर्मचारियों ने उन्हें वीडियो शूट करने से रोका व कैमरे को तोड़ने की धमकी दी। उनके साथ पिटाई भी की। माल के एक अधिकारी ने महिला पत्रकार से कहा कि वे पार्किंग शुल्क लेते रहेंगे।  केवल इतना ही नहीं इस माल के कर्मचारियों ने पत्रकार व कैमरामेन को कुछ समय तक बंधक बना कर रखने के साथ-साथ धक्का मुक्की भी की। इस बारे में सूचना मिलने के बाद पुलिस जाकर इन पत्रकारों को छुड़ाया। इसके बाद महिला पत्रकार ने भुवनेश्वर के शहीदनगर थाने में पहुंच कर लिखित में शिकायत दर्ज कराई थी और पुलिस ने कहा था कि मामले में जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई किये जाने का आश्वासन दिया था।

दोषियों पर जांच के बाद होगी कार्रवाई – पुलिस डीसीपी

इस मामले में पुलिस ने अभी तक दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो अन्य लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। इस मामले की जांच का कार्य चल रहा है। जिस किसी का इसमें शामिल होने का प्रमाण मिलेगा उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। धरना पर बैठे पत्रकारों से बातचीत करने के बाद भुवनेश्वर के डीसीपी अनूप साहू ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एक कार्यरत महिला पत्रकार के साथ बदसलुकी के संबंध में शहीदनगर थाने में शिकायत दर्ज की गई है। इस मामले के पुलिस काफी गंभीरता से ले रही है। उन्होंने कहा कि अतिरिक्त डीसीपी राजू पाइकराय को इस मामले की सुपरविजन का जिम्मा दिया गया है। वह इस मामले में  घटनास्थल में आयेंगे तथा जांच के देखरेख करेंगे। उन्होंने कहा कि इस मामले में जो भी शामिल है उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में सीसीटीवी वीडियो फुटेज, प्रत्यक्षदर्शियों के बयान आदि  उपलब्ध हैं। इन सभी साक्ष्यों व प्रमाणों को देखा जा रहा है। इसके बाद जो कोई भी इसमें शामिल होगा उसके खिलाफ आगे की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जो भी इस मामले में प्रोत्साहित किया है उन सभी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

About desk

Check Also

ओडिशा में कोरोना के 146 नये पाजिटिव मामले

भुवनेश्वर। राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 146 नये पाजिटिव मामले सामने आये …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram