Friday , August 12 2022
Breaking News
Home / Odisha / बालेश्वर सदर उपचुनाव में बीजद की होगी जीत, विपक्ष घबड़ाया – स्वरूप कुमार दास

बालेश्वर सदर उपचुनाव में बीजद की होगी जीत, विपक्ष घबड़ाया – स्वरूप कुमार दास

गोविदं राठी, बालेश्वर

बालेश्वर सदर उपचुनाव में बीजद को भारी मतों से जीत हासिल होगी. विरोधी दल इससे घबड़ाकर बीजद में मतभेद की बात उठा रहे हैं. यह बात पूरी तरह से झूठी है. बीजद का हर सदस्य पार्टी को जीत दिलाने के लिए प्रयास कर रहा है. बीजद के सभी कार्यकर्ता और वरिष्ठ नेताओं का स्नेह हमें प्राप्त है. हम जीत कर बालेश्वर की जनता की सेवा करने के लिए उत्साहित हैं. उक्त बातें बालेश्वर जिला में सदर विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उपचुनाव में बीजद प्रत्याशी स्वरूप कुमार दास (टुकुना) ने कहीं. पेश हैं उनके साथ की गयी बातचीत के प्रमुख अंश –

सवाल. अप्रत्याशित रूप से आपको बीजद ने बालेश्वर उपचुनाव में उम्मीदवार बनाया है. कहा जा रहा है कि पहले से चुनाव लड़ने के लिए आप तैयार नहीं थे. कम समय में आप मतदाताओं को कैसे आकर्षित करेंगे.

जवाब. देखिए, बालेश्वर सदर और जिले में बीजद बहुत मजबूत स्थिति में है. हमारे प्रिय मुख्यमंत्री नवीन पटनायक हमारी पार्टी के अध्यक्ष हैं. वह जिसे उम्मीदवार बनाते हैं काफी सोच समझ कर बनाते हैं. जैसा कि आप पिछले सभी उपचुनावों में देख चुके हैं. वह जमीनी कार्यकर्ताओं का चयन उम्मीद्वार के रुप में करते हैं. इस बार भी हमारे बालेश्वर सदर निर्वाचन मंडली में भी उन्होंने ऐसा ही किया है. यह आश्चर्य की बात नहीं है. वर्तमान उपचुनाव में जनता बीजद और लोकप्रिय मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को वोट देगी. मैं नवीन पटनायक का उम्मीदवार हूं, इसलिए जनता मुझे वोट जरूर देगी.

सवाल. आपका नाम आने के बाद पार्टी में विरोध हुआ था. इस विवाद का समाधान हो गया, लेकिन उनकी टीम के सदस्य आपके लिए काम करेंगे.

जवाब. बिल्कुल गलत, जिसका संकेत आप दे रहे हैं, वह हमारी पार्टी के जिला अध्यक्ष हैं. वह ताकतवर और अच्छे संयोजक हैं. उनका नेतृत्व पार्टी को जीतने में मदद करेगा. उनका कोई समर्थक मेरी उम्मीदवारी का विरोध नहीं कर रहा है. जो भी चर्चा हो रही है वह सब अफवाह एवं निराधार है. विरोधी दल झूठा प्रचार कर रहा है. सभी कार्यकर्ता पार्टी के लिए एवं मेरे लिए एक होकर काम कर रहे हैं. इसका सबूत आप प्रचार के समय शहर एवं गांवों में देखे ही होंगे.

सवाल. अरुण दे और कुछ अन्य नेता आपकी टीम में शामिल हुए हैं. इस बीच आशीष घोष और डुकुल घड़ेई की तरह युवा नेता बीजद छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए हैं. युवा वर्ग भाजपा की ओर आकर्षित हो रहा है. बीजद में क्या युवाओं को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है?

जवाब. मुख्यमंत्री के प्यार और उनके आदर्शों से प्रेरित होकर हर दिन विभिन्न दलों और संगठनों के प्रमुख नेता और कार्यकर्ता स्वयं बीजद में शामिल हो रहे हैं. जिला अध्यक्ष रवींद्र जेना और मंत्री प्रताप जेना की वजह से यह प्रक्रिया जारी है. मेरे बोलने से नहीं, आपको इसकी वास्तविकता प्रतीत हो रही होगी.

सवाल. भारतीय जनता पार्टी का आरोप है कि सत्ताधारी पार्टी के नेता, मंत्री, विधायक लोगों को विभिन्न प्रकार से लालच दे रहे हैं. आप क्या कहेंगे?

जवाब. झूठी बात है. चुनाव के वक्त विरोधी पार्टियों को हारने का डर सता रहा है. इसलिए वे ऐसा आरोप लगा रहे हैं. इस आरोप की कोई वास्तविकता नहीं है.

सवाल. राज्य में 20 वर्षों से अधिक समय तक बीजद ने शासन किया है. पार्टी के लिए उपचुनावों का क्या महत्व है?

जवाब. काफी महत्व है. बालेश्वर जिला विशेष रूप से एक स्थिर प्रवृत्ति का सामना कर रहा है. सरकार के साथ तालमेल रखने के लिए बीजद विधायक को जीतना आवश्यक है. इससे जिले में अधिक विकास हो पाएगा.

सवाल. आपकी पार्टी का कहना है कि बालेश्वर में डेढ़ साल से कोई विकास का कार्य नहीं हुआ है. पिछले चुनाव में  भाजपा उम्मीदवार विधायक चुने गए थे. तो क्या राज्य सरकार बालेश्वर क्षेत्र की अनदेखी कर रही थी?

जवाब. अनदेखी की बात पूरी तरह से निराधार है. हमारे दिवंगत विधायक ने किसी भी समय राज्य सरकार का सहयोग नहीं किया. हमेशा विरोध किया. नतीजतन विकास की प्रवृत्ति बाधित हुई.

सवाल. कोविद प्रतिबंध के बीच उपचुनाव होने हैं. क्या आप सार्वजनिक रूप से जाने के लिए तैयार हैं? प्रचार के लिए कौन सी नई तकनीकों को अपना रहे हैं?

जवाब. हम राज्य और केंद्र सरकरों के सभी नियमों के अनुसार अभियान चला रहे हैं. कम लोगों को लेकर सभाएं कर रहे हैं. हर कोई मास्क पहन रहा है और सामाजिक दूरी का अनुपालन कर रहा है. सोशल मीडिया अभियान अधिक से अधिक लोकप्रिय हो रहे हैं.

सवाल. क्या मुख्यमंत्री आपके लिए प्रचार करने आएंगे?

जवाब. अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है. कोरोना का प्रकोप भी है. हम सभी आशावादी हैं कि वह आएंगे.

सवाल. इस उपचुनाव में आपका मुख्य प्रतिद्वंद्वी कौन है?

जवाब. बालेश्वर में मतदाता अच्छी तरह से शिक्षित और जागरूक हैं. जो विकासधारा को आगे लेकर जाएगा, उसे ही जनता वोट देगी. पिछले 18 महीने में इस निर्वाचन क्षेत्र में कोई बड़ा कार्य नहीं दिखाई दिया. तो जनता बड़े अंतर से हमें जीत दिलाएगी. भाजपा उम्मीदवार मेरे करीबी प्रतिद्वंद्वी हैं.

सवाल. ग्रामीण मतदाता कह रहे हैं कि उनके गाँव के लिए अभी भी एक अच्छा रास्ता या पीने के पानी की सुविधा नहीं है. आपका क्या कहना है?

जवाब. विकास को एक शाश्वत प्रक्रिया के रूप में देखें. यह जारी रहेगा. 2019 से पहले कई विकास कार्य किया गया है. राज्य सरकार द्वारा सभी सार्वजनिक कार्य किए जा रहे हैं. आने वाले दिनों में मेरे जीतने के बाद यह सभी कार्यों को जोर-शोर से किया जाएगा. शहर के भीतर मैं सभी मौजूदा बस्ती बाशिंदों की समस्या को हल करने की कोशिश करूंगा. पीने का पानी, जल निकासी, स्वच्छता, रोशनी, सड़क, स्टेडियम और पार्क का निर्माण करने में मेरी पहली प्राथमिकता रहेगी. घरों में पानी की आपूर्ति जल्द से जल्द पहुंचाने कि व्यवस्था लागू की जाएगी.

सवाल. आपको मुख्यमंत्री के आदेश पर उम्मीदवार घोषित किया गया है, तब आप घबरा गए थे और यह तय नहीं कर पा रहे थे कि उम्मीदवारी लेंगे कि नहीं. क्या आपको खुद पर विश्वास नहीं था, या पार्टी के नेताओं का डर?

जवाब. ऐसी कोई बात नहीं थी. मेरे जैसा जमीनी कार्यकर्ता बालेश्वर सदर की जनता का सेवा करने का अवसर पाकर उत्साहित था. मैं आश्वस्त हूँ कि भगवान श्री जगन्नाथ की कृपा सहित मुख्यमंत्री का आशीर्वाद है. इन सबसे ऊपर सदर की जनता का आशीर्वाद मुझ पर है. मैं सेवा के लिए बहुत उत्साहित हूं.

About desk

Check Also

मुख्यमंत्री और केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने रक्षाबंधन की शुभकामनाएं दी

भुवनेश्वर। केन्द्रीय शिक्षा, कौशल विकास व उद्यमिता मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने रक्षाबंधन के अवसर पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram