Tuesday , May 17 2022
Breaking News
Home / National / BULBUL के चक्रवात में तब्दील होने की आशंका –मौसम विभाग

BULBUL के चक्रवात में तब्दील होने की आशंका –मौसम विभाग

  • संभावित बारिश को लेकर ओडिशा सरकार पूर्ण रुप से तैयार – एसआरसी

  • ओडिशा तट से टकराने की बेहद कम संभावना

भुवनेश्वर – बंगाल की खाड़ी में बना डिप डिप्रेशन आगामी 24 घंटों में साइक्लोनिक स्टार्म का रुप ले सकता है। मौसम विभाग ने जारी बुलेटिन में यह जानकारी दी है ।
इस बुलेटिन के अनुसार, वर्तमान में यह डिप डिप्रेशन बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व इलाके में स्थित है तथा चार किमी की गति से बढ़ रहा है । इसके साइक्लोनिक स्टार्म के रुप लेने के बाद पहले पश्चिम- उत्तर पश्चिम की दिशा में और इसके बाद उत्तर- उत्तर पश्चिम की दिशा में अग्रसर होगा । इसके कारण आगामी 9 व 10 नवंबर को तटीय व उत्तर ओडिशा में बारिश होगी । कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है ।  समुद्र अशांत रहने के कारण मछुआरों को समुद्र के अंदर न जाने के लिए हिदायद दी गई है ।

संभावित तूफान बुलबुल ओडिशा को स्पर्श करेगा,  ऐसी संभावना कम है, लेकिन इसके प्रभाव में राज्य के विभिन्न हिस्सों में बारिश होगी । इसे ध्यान में रख कर राज्य सरकार पूरी तरह सतर्क व तैयार है । राज्य के विशेष राहत आयुक्त प्रदीप कुमार जेना ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मौसम विभाग से प्राप्त जानकरी के अनुसार, इस संभावित तूफान के प्रभाव में उत्तर ओडिशा के तटीय जिलों में मध्यम बारिश होगी तथा 40 से 50 किमी की गति से तेज हवाएं बहेंगी। आगामी 9 व 10 नवंबर को इसके प्रभाव में बारिश हो सकती है ।
उन्होंने कहा कि इसे ध्यान में रख कर जिन 15 जिलों के जिलाधिकारियों को सतर्क रहने के लिए मंगलवार को कहा गया था  उसमें किसी प्रकार का परिवर्तन नहीं किया गया है। मौसम विभाग के सूचना के आधार पर आवश्यकता होने पर इसमें परिवर्तन किया जाएगा ।
उन्होनें कहा कि मछुआरें समुद्र में न जाएं इसके लिए प्रशासन उन्हें सचेत करने में जुटा है । प्रशासन ने मछुआरों से अपील की है कि जो समुद्र के अंदर चले गये हैं, वे सात नवंबर तक वापस आ जाएं । इसके बाद  समुद्र के भीतर न जाएं ।
जेना ने कहा कि मछुआरों के सुरक्षा को लेकर उन्होंने तटीय जिलों के जिलाधिकारियों से स्वयं बात की है । उन्होंने कहा कि प्रशासन के लोग समुद्र तट पर जाकर मछुआरों को लाउड स्पीकर के जरिये इसकी सूचना देंगे ।
उन्होंने कहा कि बारिश को ध्यान में रख कर किसानों को क्या करना चाहिए इसे लेकर एडवाइजरी कृषि निदेशालय व ओडिशा कृषि विश्वविद्यालय की ओर से जारी किया गया है।
उन्होंने बताया कि संभावित तूफान बुलबुल 9 नवंबर की शाम सात बजे पुरी जिले अस्तरंग से 170 किमी दूर रहेगा । 10 नवंबर की शाम को यह पारादीप से 160 किमी दूर तथा 11 को  धामरा से 140 किमी दूर रहने की संभावना है ।

About desk

Check Also

श्री जैन श्वेतांबर तेरापंथी सभा, भुवनेश्वर के अध्यक्ष बने बच्छराज बेताला

भुवनेश्वर. वर्ष 2022-2024 के लिए श्री जैन श्वेतांबर तेरापंथी सभा, भुवनेश्वर के अध्यक्ष पद पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram