Thursday , August 18 2022
Breaking News
Home / Odisha / बगला धर्मशाला की सुरक्षा के लिए भाजपा ने शुरू की आनलाइन पिटिशन

बगला धर्मशाला की सुरक्षा के लिए भाजपा ने शुरू की आनलाइन पिटिशन

  •  राष्ट्रीय प्रवक्ता डा संबित पात्र की उपस्थिति में शुरू हुआ अभियान

  •  कहा- सरकार दिखाए श्री मंदिर प्रशासन का एनओसी

  •  31 दिन तक और जारी रहेगा बगला धर्मशाला आंदोलन : भाजपा राज्य अध्यक्ष समीर महंती

पुरी. पुरी स्थित बगला धर्मशाला की जमीन को राज्य सरकार व जिला प्रशासन गैर कानूनी तरीके से प्लाटिंग कर बेचा है. धर्मशाला के लिए दान में दी गई जमीन को जहां बेचा जाना कानूनन संभव नहीं है, वहीं गरीब तीर्थयात्रियों के लिए बनाये गये धर्मशाला को नेता व प्रशासनिक अधिकारियों को खुश करने के लिए बेचा जाना दुर्भाग्यपूर्ण है. पुरी से इस धर्मशाला की रक्षा के लिए आनलाइन पीटिशन का शुभारंभ करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डा संबित पात्र ने यह बात कही. इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष समीर मोहंती भी उपस्थित थे. डा पात्र ने इस अवसर पर कहा कि 1905 में गरीब तीर्थयात्रियों के लिए पुरी में श्रीजगन्नाथ मंदिर के पास बगला धर्मशाला का निर्माण किया गया था. राजस्थान के कह्नैया लाल बगला ने इसे दान दिया था. इसमें काफी कम मूल्य पर तीर्थयात्रियों को ठहरने का प्रावधान है, लेकिन राज्य सरकार इस ऐतिहासिक धर्मशाला को मिट्टी में मिलाने का जो प्रयास कर रही है वह निंदनीय है. उन्होंने कहा कि बगला धर्मशाला की प्लाटिंग करने काम तत्काल बंद किया जाए. इसके साथ ही केन्द्र सरकार की प्रसाद योजना में तीर्थयात्रियों के लिए शुरू किये गये जगन्नाथ विश्रामस्थली के काम को शीघ्र समाप्त कर तीर्थयात्रियों के लिए भव्य धर्मशाला का निर्माण किया जाए. 115 साल पुराने बगला धर्मशाला की जमीन को बेचने का विरोध करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने अपने आंदोलन को तेज करते हुए आंदोलन को 16 दिन में पहुंचाया है. राज्य भाजपा अध्यक्ष समीर मोहंती ने डिजिटल दस्तखत अभियान पूरे विश्वभर के लिए पुरी से शुरूआत की. विश्वभर में जहां पर भी जगन्नाथ प्रेमी, व्यक्ति, श्रद्धालु होंगे उनको अपना सोशल मीडिया डिजिटल प्लेटफॉर्म पर इस डिजिटल दस्तखत व डिजिटल पिटीशन के माध्यम से बगला धर्मशाला की जमीन बचाने के अभियान में अपने को दूर रहते हुए भी शामिल करने का एक मौका भाजपा दे रही है. इधर, संबित पात्र ने कहा कि बगला धर्मशाला में श्रद्धालुओं के लिए श्री जगन्नाथ आश्रय स्थल प्रसाद योजना के तहत केंद्र सरकार के सहयोग से निर्माण के लिए भारतीय पर्यटन विकास कार्पोरेशन (आईटीडीसी) ने जिम्मेदारी ली थी. इसी समय पीकेडीए, श्रीमंदिर प्रशासन, फायर ब्रिगेड आदि नो-ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (एनओसी) प्रदान किया था. क्या अब पुरी जिलाधिकारी व राज्य सरकार दिखा पाएंगे कि इस जमीन को बेचने के लिए श्री मंदिर प्रशासन ने क्या एनओसी दी है? बगैर एनओसी में किस तरह इस जमीन को बेचा गया. इसके लिए कानूनी लड़ाई लड़ी जाएगी, क्यों यहां भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया गया है. भक्तों का इसके लिए आंदोलन भी जारी रहेगा. इस मंच पर भाजपा राज्य अध्यक्ष समीर मोहंती ने कहा कि पुरी में और 31 दिन तक आंदोलन चलेगा. जिलाधिकारी का कितना धैर्य है, सरकार में कितना धैर्य है, हम देखेंगे. कार्यक्रम का संचालन राज्य सचिव डॉक्टर लेखाश्री सामंतसिंहार ने किया, जबकि विधायक जयंत कुमार षाड़ंगी, ललातेंदु विद्याधर महापात्र, राज्य उपाध्यक्ष प्रभाती परिंडा, वरिष्ठ नेता कृष्णचंद्र जगदेव, जिला अध्यक्ष आश्रित पटनायक, वरिष्ठ नेता शंकर परिडा, चंडी प्रसाद सिंह, ज्योति महापात्र, अक्षय मोहंती, भवानी दास महापात्र, संजय मुखर्जी, मनोज प्रधान, सुरथ विश्वाल, बिरंचि नारायण त्रिपाठी, राजकिशोर राय, उमा नायक, सौम्या मिश्रा प्रमुख उपस्थित थे.

About desk

Check Also

बाढ़ प्रभावितों में तत्काल राहत वितरण के निर्देश

 मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने निरीक्षण के बाद तत्काल की घोषणा भुवनेश्वर। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram