Tuesday , August 16 2022
Breaking News
Home / Odisha / ओडिशा में भारी बारिश की मार, सरकार ने कई जिलों को अलर्ट किया

ओडिशा में भारी बारिश की मार, सरकार ने कई जिलों को अलर्ट किया

  • 23 अगस्त के आसपास बंगाल की खाड़ी में एक नए निम्न दबाव की संभावना को लेकर सभी ओडीआरएफ और राज्य अग्निशमन सेवाओं को अलर्ट पर रखा गया

  • 12 जिलों के लिए नारंगी चेतावनी जारी

  • कई नदियां ऊफान पर

भुवनेश्वर. बंगाल की खाड़ी में निम्न दवाब के क्षेत्र के कारण ओडिशा में भारी बारिश से जनजीवन बेहाल हो गया है. कई नदियां में ऊफान है तथा जलस्तल खतरे के निशान को पार गया है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के क्षेत्रीय केंद्र भुवनेश्वर ने गुरुवार को राज्य के 12 जिलों, कोरापुट, मालकानगिरि, नवरंगपुर, नुआपड़ा, बलांगीर, बरगढ़, सोनपुर, अनुगूल, संबलपुर, देवगढ़, सुंदरगढ़ और केंदुझर के लिए नारंगी चेतावनी जारी की है. बंगाल की खाड़ी के उत्तरी तट पर कम-दबाव कम दबाव अगले एक अवसाद में बदल जाएगा और पश्चिम दिशा की ओर बढ़ने की संभावना है. इसके प्रभाव के तहत इन जिलों में बहुत भारी वर्षा होने की उम्मीद है. आईएमडी मेट सेंटर के वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने कहा कि ओडिशा में पिछले 24 घंटों में 58.5 मिमी औसत बारिश दर्ज हुई है. सालेपुर में सबसे अधिक 300 मिमी बारिश हुई और उसके बाद निश्चिन्तकोइली में 297.5 मिमी और नवरंगपुर में 243 मिमी बारिश हुई है. राज्य में एक जून से 19 अगस्त के बीच औसतन 739.7 मिमी बारिश हुई है, जो 7% कम है.

मौसम कार्यालय के अनुसार,  नवरंगपुर में 130.6 मिमी, कटक में 117.2 मिमी, जाजपुर में 111.8 मिमी, कोरापुट में 100.8 मिमी और केंद्रापड़ा में 100.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई है. गंजाम ने सबसे कम तापमान दर्ज किया गया है. यहां 10.2 मिमी बारिश हुई और खुर्दा में 27.8 मिमी बारिश हुई. इस दौरान 10 जिलों में 50 मिमी से अधिक बारिश दर्ज की गई.

मछुआरों को सलाह दी गई है कि वे अगले 24 घंटे तक समुद्र में न जाएं, क्योंकि हवा की गति 45 से 55 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने की संभावना है. चेतावनी संख्या 3 को पूरे राज्य में सभी बंदरगाहों पर देखा गया है.  मौसम कार्यालय ने कहा है कि निचले इलाकों जल-जमाव हो सकता है तथा कच्चे  घरों में नुकसान पहुंच सकता है. पिछले कुछ दिनों से भारी वर्षा के बावजूद, राज्य के जल संसाधन विभाग ने कहा कि अभी ओडिशा में बाढ़ की स्थिति नहीं है. ओडिशा के राजस्व मंत्री सुदाम मरांडी ने कहा कि भले ही जलका नदी सहित राज्यभर में कई नदियां उफान पर हैं, लेकिन  कुल मिलाकर बाढ़ की स्थिति स्थिर है.

उन्होंने कहा कि मयूरभंज में बाढ़ के पानी में दो लोग बह गए और उनमें से एक लापता है, जबकि दूसरे का शव बरामद हुआ है. इधर, 23 अगस्त के आसपास बंगाल की खाड़ी में एक नए निम्न दबाव की संभावना को लेकर मरांडी ने कहा कि सभी जिला कलेक्टरों, ओडीआरएफ  और राज्य अग्निशमन सेवाओं को अलर्ट पर रखा गया है. सभी कलेक्टरों से कहा गया है बाढ़ से हुए नुकसान पर रिपोर्ट प्रस्तुत करें.

About desk

Check Also

लायंस क्लब ऑफ कटक पर्ल ने आजादी का अमृत महोत्सव विशेष बच्चों के साथ मनाया

कटक। कटक लायनस क्लब ऑफ़ कटक पर्ल ने हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी राष्ट्रप्रेम …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram