Saturday , February 4 2023
Breaking News
Home / Odisha / लॉकडाउन एवं शटडाउन के दौरान नंदगांव गोशाला में चौमुखी विकास

लॉकडाउन एवं शटडाउन के दौरान नंदगांव गोशाला में चौमुखी विकास

  • गोशाला के अध्यक्ष कमल सिकारिया के नेतृत्व में हो रहा है विकास कार्य

शैलेश कुमार वर्मा, कटक
नंदगांव बृद्ध गो सेवा आश्रम में कोविद-19 कोरोना के समय में पिछले 4 महीनों में कार्यकर्ताओं, भक्तों और दानदाताओं के विशेष सहयोग से काफी योजनाए सफल हुई. विगत 9 जून को गोशाला की कार्यकारिणी सभा में सचिव पदम भावसिंहका ने जानकारी देते हुए कहा कि गोशाला के अध्यक्ष कमल सिकारिया, चेयरमैन किशन भरतिया, को-चेयरमैन नथमल चनानी, विजय खंडेलवाल, देवकीनंदन जोशी के मार्गदर्शन में गोशाला में निरंतर गोसेवा का कार्य जारी है. तीन से चार एकड़ जमीन पर घास की खेती बढ़ाई गई, जिससे इसी साल में 30% नड़ा कम खरीदना पड़ेगा. जिससे ₹तीन लाख का खर्चा बचेगा. दानदाताओं एवं पवन गुप्ता के उत्साहवर्धक सहयोग से वर्षा ऋतु में कच्ची जगह पर काफी कीचड़ एवं गोबर के कारण गो माताओं को विभिन्न रोग होने की संभावना को ध्यान मे रखते हुए सारे इलाके में जमीन को 4 से 5 इंच ढलाई कर पक्का करवाया जा रहा है. सभी दानदाताओं की शुभकामनाएं हमें हर काम में प्रेरित करती है. हम उनके आभारी हैं, उनके परिवार के कल्याण की गोमाता से प्रार्थना करते हैं.

गोशाला के ट्रस्टी विष्णु चौधरी एवं अनिल चौधरी के पूर्ण सहयोग से कटक के खान नगर स्थित श्मशान घाट में गोबर से निर्मित गो काष्ठ से 18 महीने में करीबन 250 से 300 दाह संस्कार हो चुका है एवं उनके विशेष प्रयास से कालियाबोदा श्मशान घाट में भी अति शीघ्र दाह संस्कार का काम शुरू किया जा रहा है. सज्जन शर्मा एवं विष्णु चौधरी के संपूर्ण प्रयास से वर्मी कंपोस्ट केंचुआ खाद की आमदनी शुरू हो चुकी है. कोरोना के समय पर भी गौ माता की कृपा से उन्नति मुल्क कार्यक्रम मे किसी भी प्रकार की कमी नहीं आई है और भी भविष्य में भी गोमाता की कृपा से सभी योजनाएं पूरी होंगी. कार्यकारिणी सभा में यह निर्णय लिया गया कि पूरे विश्व को कोरोना महामारी से सुरक्षा के लिए गोशाला में 7 दिन तक गो ग्रास का संकल्प पंडित राम सिया मिश्र द्वारा किया जाएगा. इतने उन्नति मुल्क कार्यक्रम किसी भी एक व्यक्ति द्वारा संभव नहीं है. संतोष गोरिसरिया, ज्ञानचंद नाहर, हनुमान केड़िया, प्रकाश अग्रवाल, गोपाल बंसल, पुरुषोत्तम अग्रवाल, अरुण सिंघानिया, विष्णु सिंघानिया, सुनील मुरारका, संजय मित्तल,विष्णु जोशी,कौशल अग्रवाल, सत्यनारायण अग्रवाल,मनोज दुग्गड़ तथा सभी ट्रस्टियों का एवं सभी गौ भक्तों का सहयोग रहा है.

About desk

Check Also

झारसुगुड़ा अस्पताल की ईसीजी रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग

इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि मृत व्यक्ति का आपरेशन किया गया – …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram