Wednesday , December 1 2021
Home / Odisha / बारिश के कहर की पुरी में दूसरी झलक, नाले का पानी समुद्र में मिला

बारिश के कहर की पुरी में दूसरी झलक, नाले का पानी समुद्र में मिला

  • मानसून की पहली बारिश ने जनजीवन को किया बेहाल

  • बड़दाड भी हुआ जलमग्न

बारिश के कहर की दूसरी तस्वीर

पुरी होटल के आगे और स्वर्गद्वार से पीछे चैतन्य चौक के नजदीक रेणुका गली के सामने समुद्र तट पर नाले का पानी समुद्र में जाता हुआ.

प्रमोद कुमार प्रुष्टि, पुरी

मानसून की पहली बारिश ने आज दिनभर में पुरीवासियों को अपने कहर की दो झलकें दिखायी, जिससे लोग हैरान हैं. आज पहली घटना के रूप में झमाझम बारिश के बीच पुरी स्थित महाप्रभु श्रीजगन्नाथ के मंदिर पर बिजली गिरी. हालांकि इससे सिर्फ नीलचक्र में बंधा बांस ही टूटा और झंडा नीचे गिर गया. शुक्र रहा कि मंदिर की सरंचना को हानि नहीं पहुंची है. इसके कुछ ही देर पर शहरवाशियों को चौकानी दूसरी घटना देखने को मिली.

बारिश के कहर की पहली तस्वीर

श्रीमंदिर पर बिजली गिरने के कारण नीलचक्र पर लगा झंडा नीचे गिरता हुआ.

शहर में बड़दांड जलमग्न हो गया और शहर के नाले का गंदा पानी समुद्र में जाकर मिल गया. यह घटनाक्रम पुरी होटल के आगे और स्वर्गद्वार से पीछे चैतन्य चौक के नजदीक रेणुका गली के सामने समुद्र तट पर देखने को मिला. यहां की तस्वीर देखकर लोग आश्चर्यचकित हो गये हैं. तस्वीर को देखने से लग रहा है कि समुद्र का पानी शहर के अंदर की ओर आ रहा है, जबकि हकीकत यह है कि शहर का गंदा पानी नाले से समुद्र में जाकर मिल रहा है.

भीषण बारिश के कारण जलमग्न हुआ बड़दांड.

कुछ लोगों ने इस बात को लेकर भी चिंता जाहिर की है कि कहीं नाले का गंदा पानी समुद्र के पानी के दूषित न कर दे. हालांकि इन दिनों कोरोना को लेकर जारी पावंदियों के कारण पर्यटक नहीं हैं, अन्यथा उनको काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता. कुछ लोगों ने नगरपालिका की व्यवस्थ पर सवालिया निशान लगाया है.

About desk

Check Also

एनजीएमए और कीस-कीट में करार

 आदिवासी आर्ट, क्राफ्ट तथा संस्कृति आदि को मिलेगा संरक्षण और प्रोत्साहन भुवनेश्वर. नई दिल्ली में …

One comment

  1. Gobind Narayan Agrawal Advocate Sambalpur Odisha

    Heavy rain water congestion at badanda and drain lead to see the past during bahuda heavy rain DM Arabinda Agrawal was advised to requestion High power pumps for which he worked and get all engaged bahuda jatra b all the three ratha completed back journey the same evening an unprecedented history
    Like Wise water congestion need to be clear ed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram