Monday , January 30 2023
Breaking News
Home / Odisha / महाप्रभु श्री जगन्नाथ की रथयात्रा के लिए रथों का निर्माण शुरू

महाप्रभु श्री जगन्नाथ की रथयात्रा के लिए रथों का निर्माण शुरू

  • समय पर निर्माण पूरा होने की संभावना नहीं – विजय महापात्र

  • कहा- अब सबकुछ महाप्रभु की कृपा पर है निर्भर

विष्णुदत्त दास, पुरी

केंद्र सरकार के आदेश के बाद पुरी में महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा के लिए रथों का निर्माण आज से शुरू हो गया है. कोरोना को लेकर जारी लाकडाउन के बीच इससे संबंधित सभी नियमों का पालन किया जा रहा है. सामाजिक दूराव का ध्यान दिया जा रहा है.

केंद्र सरकार के निर्देशानुसार, यहां पर कोई धार्मिक एकत्रीकरण नहीं हो पाएगा. सिर्फ रथों का निर्माण होगा. केंद्र सरकार के निर्देश के बाद कल रात श्री मंदिर प्रशासन व जिला प्रशासन की एक संयुक्त बैठक हुई. इसमें रथों को बनाने वाले विश्वकर्मा सेवायतों को भी बुलाया गया था. इसके आधार पर आज सुबह 9:50 बजे से रथों का निर्माण कार्य शुरू हो गया. तीनों रथों के मुख्य विश्वकर्मा नारियल लेकर निर्माण स्थल पर पहुंचे और लकड़ी के पास विशेष विधि विधान का कार्य संपन्न कर रथों के निर्माण की शुरुआत की. इसके बाद में अन्य सहयोगी भी निर्माण कार्य में जुट गये.

निर्माण स्थल को चारों तरफ से कपड़े से ढाक दिया गया है, ताकि कोई बाहरी व्यक्ति अंदर प्रवेश ना कर पाये. निर्माण कार्य में लगे लोगों को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिए ऐसा किया गया है. इस दौरान अंदर प्रवेश करने के लिए अनुमति प्राप्त होनी चाहिए. विश्वकर्मा कार्यकारी अधिकारी और पत्रकारों को इसके अंदर जाने की अनुमति प्राप्त है. सबके सहयोग से निर्माण कार्य को तेजी से शुरू किया गया है. बावजूद इसके समय काफी बीतने के कारण भगवान श्री जगन्नाथ जी के मुख्य विश्वकर्मा विजय महापात्र  ने कहा कि तय समय पर निर्माण कार्य संपन्न होना संभव नहीं दिख रहा है. उन्होंने कहा कि अब सबकुछ महाप्रभु जगन्नाथ के ऊपर ही निर्भर है.

राज्य के विधि मंत्री प्रताप जेना ने कहा कि केंद्र सरकार से हमने अनुमति मांगी थी. अनुमति प्राप्त होने के बाद अब रथों का निर्माण शुरू हो गया है, लेकिन रथयात्रा निकलेगी या नहीं, यह फैसला राज्य सरकार तय करेगी. इधर, रथों के निर्माण कार्य शुरू होते ही भगवान जगन्नाथ जी के श्रद्धालुओं में खुशी देखने को मिली.

आइसोलेशन में रखे जायेंगे निर्माण में जुटे लोग

रथयात्रा के लिए बन रहे रथों के निर्माण स्थल के 200 मीटर तक के इलाके में पाबंदी लगा दी गयी है. इसमें किसी को जाने की अनुमति नहीं है. प्रशासन की तरफ से यह सूचना जारी की गई है. ठीक इसी तरह से कोरोना वायरस को देखते हुए 150 विश्वकर्मा को उनके घर जाने की अनुमति नहीं है. इन सबको टाउन थाना के पास में स्थित भक्त निवास में आइसोलेशन में रखा जाएगा. वहां पर उनकी स्वास्थ्य परीक्षण करने के साथ-साथ खाने-पीने की सभी व्यवस्था की जाएगी. वहीं से रथ निर्माण स्थल तक विश्वकर्मा पहुंच कर रथ निर्माण कार्य करेंगे. कार्य संपन्न होने के बाद में भक्त निवास में विशेष आइसोलेशन में रहेंगे.

पत्रकारों से रथ निर्माण स्थल पर नहीं जाने का अनुरोध

श्री मंदिर के मुख्य प्रशासक डॉ किशन कुमार ने पत्रकारों से रथ निर्माण के बारे में जानकारी देते हुए आग्रह किया कि वे निर्माण स्थल पर ना जायें. उन्होंने कहा कि रथ निर्माण को लेकर लेकर जिलाधिकारी बलवंत सिंह रोजाना पत्रकारों को जानकारियां प्रदान करेंगे. इसके लिए व्यवस्था की जा रही है. सभी पत्रकारों को  पांच से सात मिनट की वीडियो और कई फोटोग्राफ के साथ रोजाना निर्माण कार्य की जानकारियां दी जाएंगी. उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर यह निर्णय लिया गया है. साथ ही उन्होंने कहा कि यदि कुछ सुझाव देना हो तो आप हमें दे सकते हैं.

 

About desk

Check Also

भाजपा ने अपना आंदोलन को स्थगित करने की घोषणा की

अब 2 से 4 फरवरी को होगा आंदोलन भुवनेश्वर। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram