Saturday , February 4 2023
Breaking News
Home / Odisha / जाजपुर में तीन कोरोना पाजिटिव मामला

जाजपुर में तीन कोरोना पाजिटिव मामला

  • राज्य में मरीजों की संख्या 128 हुई

भुवनेश्वर. जाजपुर जिले में तीन व्यक्ति कोरोना पाजिटिव पाये गये हैं. आज इनके नमूनो की जांच रिपोर्ट पाजिटिव आयी है. यह जानकारी राज्य सरकार के सूचना व जनसंपर्क विभाग ने ट्विट कर दी है. इन मरीजों में की ट्रैवेल हिस्ट्री पश्चिम बंगाल से जुड़ी है. इनमें जाजपुर जिला के कातिकाटा कांटेंमेंट एरिया से 18 वर्षीय एक किशोरी है और 56 साल का एक वृद्ध है, जबकि तीसरा मरीज 65 साल है. ये सभी लोग क्वारेंटाइन में रखे गये थे.

उल्लेखनी है कि कल सुबह से शाम तक कुल 7 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इनमें से तीन मरीज बालेश्वर के हैं. केन्दुझर, देवगढ़ व झारसुगुड़ा जिले के एक-एक तथा एक भुवनेश्वर मधुसूदन नगर से एक मरीज पाजिटिव पाया गया.

सतर्क रहें, सहयोग करें नवीन ने राज्य की जनता से किया आह्वान

केवल 10 प्रतिशत लोगों की गलती के कारण समस्या सौ गुना बढ़ सकती है. इस कारण आप लोग सतर्क रहें व प्रशासन को सहयोग करें. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बुधवार को वीडियो संदेश जारी कर राज्य की जनता से यह  आह्वान किया है. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस वीडियो संदेश में कहा कि  आगामी कुछ दिन हमारे लिए काफी महत्नपूर्ण होंगे. देश के सर्वाधिक संक्रमित राज्य जैसे महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, तमिलनाडु, कर्णाटक, राजस्थान व हमारे पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल से ओड़िया भाई-बहन प्रदेश लौटेंगे. उनकी जिम्मेदारी हमारी है.

बाहर से लोगों के आने पर कोरोना पाजिटिव के मामले बढ़ेंगे. यदि आप लोगों का सहयोग मिलेगा तो स्थिति को नियंत्रण में लाया जा सकेगा. उन्होंने कहा कि इस लिए हमें सावधान रहना होगा. धैर्य रखना होगा, बाहर से लौटने वाले लोगों का पंजीकरण कराना होगा. उन्हें संगरोध में रखने में सहयोग देना होगा. इससे वे स्वस्थ रहेंगे व हमारा परिवार, गांव व समाज स्वस्थ रहेगा. उन्होंने कहा कि दस दिन पूर्व ही उन्होंने लोगों से बात की थी. उस समय राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 61 थी लेकिन दस दिनों में यह संख्या दुगनी हो गई है.

उन्होंने कहा कि हमारे लिए पहली चुनौती विदेशों से आये ओडिशा के लोगों की थी. दूसरी चुनौती निजामुद्दिन से लौटे हुए लोगों की देखभाल की  थी. अब हमारी चुनौती पश्चिम बंगाल से आने वाले ओडिशा के भाई बहनों का ध्यान रखना है. वर्तमान मे जितने भी मामले हैं उसमें से 50 मामले पश्चिम बंगाल से लौटने वालों की है. अन्य राज्यों से ओडिशा की स्थिति बेहतर है. ऐसे में सारे लोगों के सहयोग से इसका सही मुकाबला हो सकेगा.

About desk

Check Also

झारसुगुड़ा अस्पताल की ईसीजी रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग

इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि मृत व्यक्ति का आपरेशन किया गया – …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram