Saturday , February 4 2023
Breaking News
Home / National / ओडिशा में सरपंच को मिलेगा जिलाधिकारी का अधिकार

ओडिशा में सरपंच को मिलेगा जिलाधिकारी का अधिकार

  • कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री ने की बड़ी घोषणा

  • बाहरी राज्यों से लौटने पर पंजीकरण व 14 दिनों का क्वारेंटाइन होगा अनिवार्य

  • क्वारेंटाइन के बाद दो हजार रुपये मिलेगी प्रोत्साहन राशि

हेमन्त कुमार तिवारी, भुवनेश्वर

कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक बड़ी घोषणा करते हुए सरपंचों को जिलाधिकारी का पावर देने की बात कही है. देश में यह पहला मामला होगा, जब किसी सरपंच को इतना बड़ा पावर दिया जा रहा है. ऐसा इसलिए किया जा रहा ताकि लाकडाउन हटने के बाद बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों को कोरोना के विस्तार को रोकने के लिए नियंत्रित किया जा सके. अन्य राज्यों से अपने गांवों में लौटने वाले लोगों के लिए पंजीकरण करना अनिवार्य होगा. उसके बाद उन्हें 14 दिनों तक क्वारेंटाइन में रहना होगा. उन्हें भोजन और ठहरने की व्यवस्था निःशुल्क होगी. क्वारेंटाइन समाप्त होने के बाद उन्हें दो हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने रविवार शाम को वीडियो कांफ्रेन्सिंग के जरिये यह घोषणा की. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सरपंचों को जिलाधिकारी का अधिकार प्रदान करने के लिए कानूनी कदम उठाये जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि पंचायत व शहरी निकायों के सशक्तिकरण के द्वारा ही राज्य के बाहर से आने वाले लोगों को उचित सेवा प्रदान करने के साथ-साथ कोविद के खिलाफ लड़ाई को मजबूत कर सकेंगे.

प्रशासनिक अधिकारी पर हमला मामले में और पांच गिरफ्तार

जाजपुर जिले में कोरोना को लेकर लाकडाउन की स्थिति देखने के लिए गये प्रशासनिक अधिकारी पर किये गये हमले के मामले में पुलिस ने और पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही इस मामले में कुल गिरफ्तार किये गये लोगों की संख्या 8 हो गई. जाजपुर पुलिस ने आज सुलताल खान, रबानी खान, गुफरान, अबदुल सलाम खान व असरफ अली को गिरफ्तार किया. उल्लेखनीय है कि दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज से लौटे एक व्यक्ति ने शनिवार को अपने दो साथियों और कुछ ग्रामीणों के साथ मिलकर ओडिशा के जाजपुर जिले के एक गाँव में राज्य सरकार के दो अधिकारियों पर हमला कर दिया और उन्हें बंधक बना लिया. घटना कुआखिया पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले गोपीनाथपुर गाँव में उस समय हुई, जब जिलाधिकारी रंजन कुमार दास अन्य अधिकारियों के साथ लॉकडाउन के दिशा-निर्देशों के पालन का जायजा लेने और यह सुनिश्चित करने पहुँचे थे कि लोगों ने मास्क पहना है या नहीं. इस मामले में तीन लोगों को कल ही गिरफ्तार कर लिया था.

About desk

Check Also

विकास की दौड़ में पिछड़ गये वंचितों के लिए काम करना सरकार की पहली प्राथमिकता : प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्ली,प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्वोत्तर की अर्थव्यवस्था और प्रगति में पर्यटन की भूमिका को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram