Sunday , July 3 2022
Breaking News
Home / National / उत्तर प्रदेश – होमगार्डों की फर्जी ड्यूटी दिखाकर वेतन का घोटाला

उत्तर प्रदेश – होमगार्डों की फर्जी ड्यूटी दिखाकर वेतन का घोटाला

  •  गौतमबुद्वनगर में फर्जी मस्टररोल घोटाले का खुलासा

लखनऊ- उत्तर प्रदेश में होमगार्ड जवानों के मास्टर रोल में घोटला होने का मामला प्रकाश में आया है। दिनांक 17-7-2019 को एक होमगार्ड पी.सी ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौतममबुद्वगर के समक्ष उपस्थित होकर एक शिकायती प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया कि होमगार्ड कार्यालय जनपद गौतमबुद्वनगर में विभिन्न थानों और अन्य स्थानों पर होमगाडर्स की ड्यूटी के संबंध में फर्जी मस्टररोल तैयार कर वेतन आहरित किये गये हैं।    उक्त शिकायती प्रार्थना पत्र की जांच पुलिस अधीक्षक नगर, गौतम बुद्व नगर द्वारा की गयी। जांच से माह मई, जून 2019 के 7 थानों व राजकीय संप्रेक्षण गृह में होमगार्ड की ड्यूटियों के सैम्पल के तौर पर भौतिक समीक्षा की गयी तो उक्त 02 माह में लगभग 114 होमगार्ड का 1327 दिवस का वेतन लगभग 7,07,500/-(सैम्पल अवधि में कुल आहरित वेतन करीब 50 प्रतिशत) का फर्जी मस्टररोल तैयार कर आहरित कराया जाना पाया गया।

अब तक क्या हुआ

1-इस संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौतमबुद्वनगर के निर्देश पर प्रभारी निरीक्षक थाना सूरजपुर श्री जितेन्द्र सिंह द्वारा थाना सूरजपुर पर मु0अ0सं0 1694/2019 धारा 409/420/467/468/471 भादवि जिला कमाण्डेंट होमगार्ड कार्यालय के अधिकारी/कर्मचारीगण के विरूद्व पंजीकृत कराया गया, जिसकी विवेचना अपराध शाखा से सम्पादित की जा रही है।

2- विवेचना के दौरान जिला कमाण्डेंट होमगार्ड कार्यालय से विभन्न थानों के जनवरी 2019 से अब तक के मास्टर रोल/प्रपत्र तथा कुछ अन्य स्थानों के जनवरी 2017 से अब तक के मस्टररोल/प्रपत्र विवेचक द्वारा कब्जे में लिये गये हैं, जिनकी जांच की जा रही है। अब तक की गयी विवेचना के आधार पर प्रकाश में आये 05 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गयी है।

कई वर्षों से चली आ रही है हेराफेरी

गिरफ्तार अभियुक्तगण से की गयी पूछतांछ व अभिलेखीय साक्ष्यों के परिशीलन से पाया गया कि होमगार्ड विभाग में उक्त हेराफेरी पिछले कई वर्षो से चल रही थी, जिसमें तत्समय नियुक्त रहे जिला कमाण्डेंट होमगार्ड की सहमति थी। जिला कमाण्डेट होमगार्ड के निर्देशन में अवैतनिक प्लाटून कमाण्डरों द्वारा थानों में तैनात होमगार्डो के फर्जी मास्टर रोल तैयार किये जाते थे। इसके उपरान्त थाना प्रभारी व अन्य स्टाफ के फर्जी हस्ताक्षर कर व फर्जी मुहर तैयार कर मास्टर रोल पर जिला कमाण्डेंट से अनुमोदन कराकर भुगतान प्राप्त किया जाता था, जिसमें प्रत्येक का हिस्सा होता था। जो होमगार्ड्स डयूटी पर नहीं हैं, फर्जी मास्टररोल में उनकी भी उपस्थिति दर्शा कर उनका वेतन आहरण किया जाता था। इसके अतिरिक्त होमगार्ड के कार्य दिवस की संख्या को बढ़ाकर अनुचित रूप से अतिरिक्त वेतन आहरण किया जाता था, जिसकी धनराशि भी उक्त अधिकारी/कर्मचारीगण के मध्य वितरित होती थी।

चार करोड़ से अधिक की रकम की हुई हड़पबाजी    

अब तक की जांच से प्रतीत हो रहा है कि उक्त प्रकरण में विगत दो वर्ष में थानों की डयूटी के सबंध में फर्जी मास्टर रोल तैयार कर 04 करोड़ से अधिक की धनराशि का अनाधिकृत रूप से वेतन के रूप में आहरण किया गया है। इसके अतिरिक्त अन्य प्रशासनिक कार्यालयों में भी इसी प्रकार के फर्जीवाड़ा होने की भी पूर्ण सम्भावना है। वास्तविक आंकड़ा सम्पूर्ण जांच के बाद ही निर्धारित कर पाना सम्भव है।

ये किये गये हैं गिरफ्तार

1-मोन्टू कुमार पुत्र हरेन्द्र सिंह निवासी सी-185 देवेन्द्रपुरी निवाडी रोड मोदीनगर जनपद गाजियाबाद। उम्र 32 वर्ष, (अवैतनिक प्लाटून कमाण्डर)

2-शलैन्द्र कुमार पुत्र श्री ब्रिजेश कुमार निवासी बसा टिकरी थाना जानी जनपद मेरठ। उम्र 30 वर्ष, (अवैतनिक प्लाटून कमाण्डर)

3-सत्यवीर यादव पुत्र श्री रणवीर सिंह यादव निवासी ग्राम सुराना थाना मुरादनगर जनपद गाजियाबाद। उम्र 38 वर्ष, (अवैतनिक प्लाटून कमाण्डर)

4-सतीश चन्द पुत्र स्व0 श्री हरभजन सिंह निवासी जे-233 सैक्टर-बीटा-02 जनपद गौतमबुद्धनगर। स्थायी पता ग्राम इन्द्रगढ़ी निकट दिल्ली धर्मकान्ता थाना मसूरी जनपद गाजियाबाद। उम्र 35 वर्ष, (सहायक जिला कमाण्डेंट)

5-रामनारायण चैरसिया, मण्डलीय कमाण्डेन्ट, अलीगढ़। (तत्कालीन जिला कमाण्डेंट होमगार्ड, गौतमबुद्धनगर)

जिला कमाण्डेंट होमगार्ड कार्यालय में शेष मास्टर रोल को फूंका

जिला कमाण्डेंट होमगार्ड कार्यालय में शेष मास्टर रोल को फूंक दिया गया है। डायल 100 पुलिस को दिनांक-19-11-2019 को प्रातः करीब 09.00 बजे जिला कमाण्डेंट होमगार्ड कार्यालय में आग लगने की सूचना प्राप्त हुंयी। सूचना पर तत्काल प्रभारी निरीक्षक सूरजपुर तथा एफएसओ द्वारा मौके पर जाकर जांच करने पहुंचे तो पाया गया कि किसी अज्ञात द्वारा कार्यालय का दरवाजा तोड़कर व कमरे के अन्दर रखे बक्से के ताले को तोड़कर बक्से में आग लगा दी है। इसमें वर्ष 2014 से लेकर अभी तक के शेष मस्टररोल रखे थे। उच्चाधिकारियों तथा फारेन्सिक टीम द्वारा मौके पर पहुंच कर मौका मुआयना किया गया। प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुए चौकी इंचार्ज कस्बा सूरजपुर की तरफ से थाना सूरजपुर पर मु0अ0सं0 1733/2019 धारा 457/458/204/436/427 भा0द0वि0 व 4 सार्वजनिक सम्पत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 1984 पंजीकृत कराया गया। उक्त घटना को अत्यन्त गम्भीरता से लेते हुए आग लगने के कारणों एवं उक्त घटनाक्रम में शामिल अभियुक्तों के विषय में जांच हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस अधीक्षक नगर के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एस0आई0टी0) का गठन किया गया है तथा गुजरात से एक उच्चस्तरीय फोरेंसिक टीम को जांच हेतु बुलाया गया है जो मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने कहा है कि शीघ्र ही घटना का अनावरण कर दिया जायेगा।

About desk

Check Also

कोलकाता पुलिस ने नूपुर शर्मा के खिलाफ जारी किया लुकआउट नोटिस

कोलकाता, पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर कोलकाता पुलिस ने भाजपा की …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram