Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / Odisha / ट्रेन में एसी कोच से कंबल हटा

ट्रेन में एसी कोच से कंबल हटा

  •  कोरोना को देखते हुए पूर्व तट रेलवे ने लिया फैसला

  •  प्रमुख स्टेशनों पर शौचालयों को अतिरिक्त साफ-सफाई करने का निर्देश

  •  कोरोना वायरस को लेकर पूर्व तट रेलवे की ओर से व्यापक तैयारी

  •  महत्वपूर्ण स्टेशनों पर नियंत्रण कक्ष/टेलीफोन हेल्प लाइन जारी

  •  कर्मचारियों की जागरुकता के लिए विशेष प्रशिक्षण

  • रेलवे स्टेशनों व ट्रेनों में सघन जागरुकता अभियान

भुवनेश्वर. कोरोना वायरस से निपटने के लिए पूर्व तट रेलवे ने भी कमर कस ली है. सतर्कता के तहत एसी कोच से कंबल को हटा दिया गया है तथा यात्रियों की मांग पर चादर दी जायेगी. एसी-1, एसी-2 और एसी-3 में अब यात्रियों को कंबल नहीं मिलेगा. यह जानकारी यहां पूर्व तट रेलवे की ओर से दी गयी है. बताया गया है कि इसके साथ-साथ सभी ट्रेनों को हाईजेनिक रखने का निर्देश दिया गया है. खासकर सभी प्रमुख स्टेशनों पर ट्रेनों के शौचालयों को विशेष तौर पर साफ करने को कहा गया है. उल्लेखनीय है कि कल ओडिशा सरकार ने आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के प्रावधानों के तहत राज्य में कोरोना को ‘आपदा’ घोषित किया है, ताकि इस बीमारी के प्रसार से निपटने के लिए सार्वजनिक अधिकारियों को पर्याप्त रूप से सशक्त बनाया जा सके.

इसके तहत कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए पूर्व तट रेलवे ने अपने पूरे संसाधनों के साथ तैयारी कर ली है. इस संबंध में रेलवे के चिकित्सा विभाग सहित मण्डल रेल प्रबंधकों को पूरे जोन के क्षेत्राधिकार में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु समुचित उपाय सुनिश्चित करने के निर्देष दिये गये हैं.


स्थिति की निगरानी के साथ विशेष व्यवस्था के संबंध में विभिन्न विभागों को व्यापक दिशा-निर्देश दिये जा चुके हैं. पूर्व तट रेलवे के महत्वपूर्ण स्टेशनों पर विषेश नियंत्रण कक्ष/हेल्प डेस्क की स्थापना के साथ ही वहां तैनात कर्मचारियों को इस विशय के बारे में जागरूक व प्रषिक्षित किया जा रहा है. इसके अलावा संबंधित स्वास्थ्य प्राधिकारियों के साथ समन्वय व सहयोग भी सुनिश्चित किया जा रहा है.
कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए पूर्व तट रेलवे की ओर से कई कदम उठाये जा रहे हैं. इस क्रम में
यात्रियों एवं रेल उपयोगकर्ताओं के बीच सूचना, प्रशिक्षण एवं संवाद संबंधी स्थानीय भाषाओं में सामग्रियों जैसे पोस्टर, बैनर, पर्चे आदि के माध्यम से जागरुकता फैलायी जा रही है. इसके अलावा अस्पतालों, रेलवे कॉलोनियों, कार्यालय भवनों में भी इन प्रचार माध्यमों के द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है. रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों व रेल उपयोगकर्ताओं को जागरूक करने के लिए ऑडियो एवं वीडियो क्लिप चलाये जा रहे हैं. इस संबंध में स्टेशनों पर समय-समय पर सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली के माध्यम से भी संदेश प्रसारित किये जा रहे हैं. ट्रेनों के कोचों व शौचालयों को निरंतर रूप से कीटाणुरहित रखने के लिए विशेष जोर दिया जा रहा है.
रेलवे स्टेशन एवं रेलवे कॉलोनी परिसर में सफाई एवं स्वच्छता संबंधी गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है


बुखार से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए अलग व्यवस्था
रेलवे अस्पतालों में बुखार से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए अलग व्यवस्था की गयी है. बुखार से ग्रसित मरीजों के लिए अलग से विशिष्ट संकेत के साथ काउंटर, वार्ड की व्यवस्था की गयी है. इन वार्डों में तैनात चिकित्सा कर्मचारियों को उचित सुरक्षात्मक उपस्कर प्रदान किये गये हैं. रेलवे अस्पतालों में बुखार से पीड़ित मरीजों के उपचार के लिए अलग वार्ड एवं बेड की व्यस्था की गयी है, जिससे कि उचित उपकरणों की सहायता से कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की जांच व उपचार किया जा सके. इसके अलवा रेलवे ने देशभर के विभिन्न भागों में संगरोधन के लिए चिन्हित स्थानों पर विषेश रूप से अलग बेड व वार्ड की व्यवस्था की है.


बेहतर समन्वय रखने का निर्देश
चिकित्साकर्मियों को निर्देश दिया गया है कि यदि पूर्व तट रेलवे के क्षेत्राधिकार में कोरोना वायरस से संदिग्ध या पीड़ित किसी भी मरीज का पता चलता है तो तत्काल इसकी सूचना स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकारियों को दी जाये.
सभी चिकित्सा प्रभारियों को संबंधित राज्य के स्वास्थ्य प्राधिकारियों से निरंतर संपर्क में रहने का निर्देश दिया गया है, जिससे कि राज्य प्राधिकारियों द्वारा संबंधित विषय उपलब्ध कराये गये अद्यतन दिशा-निर्देश हासिल कर तत्काल आवश्यक उपाय, रोकथाम व उपचारात्मक संबंधी कदम उठाये जा सके. सभी रेलवे अस्पतालों में नियंत्रण कक्ष एवं टेलीफोन हेल्प लाइन की व्यवस्था की गयी है. जब कभी भी आवश्यक हो रेलवे परिसर में उपलब्ध पृथक्क वार्ड/संगरोधी वार्ड का उपयोग स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकारियों के परामर्श से किया जायेगा.
रेलवे लाभुकों को जागरूक करने के लिए उनके बीच स्वास्थ्य षिक्षा कैंप का आयोजन किया जा रहा है. सभी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को निवारक रणनीतियों के बारे में विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है.


जीवन रक्षक दवाओं व उपकरणों से सुसज्जित 10 बेड वाले अलगाव वार्ड की व्यवस्था
कोरोना वायरस से ग्रसित संभावित संदिग्ध मरीजों के लिए सेन्ट्रल हॉस्पिटल, भुवनेश्वर सहित खुर्दा रोड, संबलपुर एवं वाल्टियर मण्डल अस्पताल में सभी जीवन रक्षक दवाओं व उपकरणों से सुसज्जित 10 बेड वाले अलगाव वार्ड की व्यवस्था की गयी है.

About desk

Check Also

रिद्धि-सिद्धि साई संस्था ने कुमार पूर्णिमा महोत्सव मनाया

कटक. चावलियागंज रिद्धि-सिद्धि साईं संस्था द्वारा मंगलाबाग मोहन मंडप में कुमार पूर्णिमा महोत्सव आयोजित किया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram