Thursday , July 7 2022
Breaking News
Home / Odisha / अमित शाह के ओडिशा दौरे को लेकर तैयारियां जोरों पर

अमित शाह के ओडिशा दौरे को लेकर तैयारियां जोरों पर

  •  भुवनेश्वर में सीएए के समर्थन में विशाल रैली में जुटेंगे बूथस्तरीय कार्यकर्ता

    भुवनेश्वर. केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह आगामी 28 फरवरी को दो दिवसीय ओडिशा दौरे को लेकर पार्टी की प्रदेश इकाई जोरदार तैयारी में जुटी है. उनके इस दो दिवसीय कार्यक्रम में सार्वजनिक सभा को सफल बनाने के लिए पार्टी ने दिन रात मेहनत करना शुरु कर दिया है. पार्टी सूत्रों ने बताया कि 28 फरवरी को वह भुवनेश्वर में सीएए के समर्थन में विशाल रैली को संबोधित करेंगे. हालांकि मैदान को लेकर अभी तक कुछ निश्चित नहीं हुआ है, लेकिन माना जा रहा है कि उनकी रैली जनता मैदान में आयोजित होगी. इस कार्यक्रम में लगभग एक लाख कार्यकर्ताओं को जुटाने के लिए पार्टी की प्रदेश इकाई लगी है. इसी क्रम में पार्टी के प्रदेश कार्यालय में व जिलास्तर पर निरंतर बैठक की जा रही है तथा अधिक से अधिक बूथस्तरीय कार्यकर्ता शामिल हों, इसके लिए प्रयास किये जा रहे हैं. उल्लेखनीय है कि 28 को एक सरकारी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए केन्द्रीय गृह मंत्री भुवनेश्वर आयेंगे. शाम को पार्टी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे. इसके अगले दिन यानी 29 को वह भुवनेश्वर के लिंगराज मंदिर जाकर दर्शन करेंगे. इसके साथ ही उसी दिन वह पुरी में श्रीजगन्नाथ मंदिर जाकर दर्शन करेंगे. इसके बाद वह वापस लौट जाएंगे.

बीजद व भाजपा के बीच मधुर संबंध – कांग्रेस
भुवनेश्वर. केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह के ओडिशा दौरे को लेकर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है. पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष तथा पूर्व मंत्री जयदेव जेना ने कहा कि अमित शाह के लिए देश की कानून व्यवस्था से बड़ा अब सीएए हो गया है. उन्होंने कहा कि भाजपा व बीजद के बीच मधुर संबंध हैं. राज्य में अधिक राज्यसभा सीट लेने के लिए शाह सरकारी कार्यक्रम के बहाने बीजद से बात करने के लिए ओडिशा आ रहे हैं.

भाजपा व बीजद के संबंध के बारे में सबको पता है – बीजद
भुवनेश्वर बीजू जनता दल व भाजपा के बीच संबंध कैसा है, यह सबके सामने है. भाजपा के साथ बीजद के मधुर संबंधों को लेकर कांग्रेस के आरोपों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बीजद सांसद भर्तृहरि महताब ने यह बात कही. उन्होंने कहा कि केन्द्र में भाजपा सत्ता में है तथा बीजद विपक्ष में है. इसी तरह राज्य में बीजद सत्ता में है तथा भाजपा विपक्ष में है. इसलिए भाजपा के साथ बीजद का कैसे संबंध हैं यह पूरी तरह से स्पष्ट है. सीएए के समर्थन में भाजपा द्वारा की जा रही रैली पर प्रतिक्रिया व्य़क्त करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा इसके समर्थन में रैलियां कर रही है. यह उनकी पार्टी का अंदरुनी मामला है. इस पर मुझे कुछ नहीं कहना है.

About desk

Check Also

इकोर के 15 प्रमुख स्टेशन होंगे कैमरे की नजर में कैद

 कार्य जनवरी 2023 तक पूरा होने की संभावना है।  रेलवे में नई तकनीक को तेजी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram