Thursday , December 2 2021
Breaking News
Home / Odisha / भीम आर्मी के भारत बंद का संबलपुर में जबरदस्त असर

भीम आर्मी के भारत बंद का संबलपुर में जबरदस्त असर

  •  नहीं खुली दुकान बाजारें, सडक़ों पर विरानी

  •  संबलपुर-पुरी इंटरसिटी एक्सप्रेस को किया जाम

संबलपुर। प्रमोशन पर आरक्षण विषय पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए राय का विरोध में भीम आर्मी द्वारा बुलाए गए भारत बंद का संबलपुर में जबरदस्त असर देखा गया। रविवार को दिन तमाम शहर में दुकान-बाजार बंद रहा। सडक़ों पर विरानी का मंजर छाया रहा। रविवार की अहले सुबह से ही भीम आर्मी के सदस्यों ने शहर में पिकेटिंग आरंभ किया और राष्ट्रीय राजमार्ग छह को जाम कर दिया। मसलन राष्ट्रीय राजमार्ग में यातायात पूरी तरह बंद हो गई। इसके बाद आंदोलनकारियों ने संबलपुर रेलवे स्टेशन में धावा बोला और संबलपुर-पुरी इंटरसिटी एक्सपे्रस ट्रेन के इंजन के सामने खड़े होकर माननीय सुप्रीम कोर्ट के राय का विरोध किया और नागरिकता संशोधन कानून एवं एनपीआर के खिलाफ नारेबाजी किया। इस आंदोलन के कारण इंटरसिटी एक्सप्रेस करीब एक घंटा तक संबलपुर में खड़ी रही। जब आंदोलनकारी वहां से हटे तो रेल प्रबंधन ने ट्रेन को अपने गंतव्य की ओर रवाना किया।

आंदोलन के कारण शहर में रविवार को यात्री बसों के आवाजाही पर पूरी तरह पाबंदी रही। मसलन दूर-दराज से संबलपुर आनेवाले लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। बाहर से संबलपुर पहुंचे लोग दिनतमाम अंइठापाली प्राईवेट बस स्टैंड, सरकारी बस स्टैंड, संबलपुर स्टेशन एवं संबलपुर रोड रेलवे स्टेशन में रूके रहे। जब स्थिति सामान्य हुई तो उन्होंने अपने गंतव्य की ओर प्रस्थान किया। सुबह गोलबाजार में कुछ सब्जी विक्रेता जमा जरूर हुए, किन्तु जैसे ही आंदोलनकारियों को इसकी भनक लगी उन्होंने गोलबाजार का रूख किया और सब्जी विक्रेताओं को दुकान बंद करने पर विवश कर दिया। संबलपुर के अलावा बुर्ला, हीराकुद, रेंगाली, रेढ़ाखोल, बरगढ़, बलागीर एवं टिटिलागढ़ में भी बंद का व्यापक असर रहा। आंदोलित लोगों का कहना था कि प्रमोशन में आरक्षण विषय सुप्रीम कोर्ट की राय में विरोधाभाष है। भीम आर्मी सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध करती है कि वे मामले पर पुनर्विचार करें। जिससे अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के लोगों को न्याय मिल सके। अगर ऐसा नहीं हुआ तो आनेवाले दिनों में आदोलन को और उग्र किया जाएगा। उस दौरान यदि किसी प्रकार की अनहोनी हुई तो इसके लिए सरकार जिम्मेदार होगी। आंदोलन के दौरान उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून एवं एनपीआर पर भी जमकर हल्ला बोला। संबलपुर बंद को देखते हुए शहर के सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था रही। किसी भी अप्रिय घटना के निपटने के लिए शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर पुलिस का कड़ा पहरा रहा। पुलिस के आला अधिकारी स्वयं स्थिति की तदारख करते दिखे। कुल मिलाकर भीम आर्मी को भारत बंद संबलपुर में सफल रहा। खबर लिखे जानेतक कहीं से किसी प्रकार की अप्रिय घटना की खबर नहीं मिल पाई थी।

About desk

Check Also

कंधमाल में माओवादियों ने लोगों से जंगल में नहीं जाने को कहा

 माओवादी पोस्टर मिलने दहशत, कहा-जगंलों में लगायी गयी बारूदी सुरंग फुलबाणी. कंधमाल जिले के कई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram