Sunday , November 28 2021
Breaking News
Home / Odisha / गंजाम बस हादसे में बड़ा खुलासा

गंजाम बस हादसे में बड़ा खुलासा

ग्रामीण विकास विभाग और साउथको में खींचतान ने ली 10 लोगों की जान

  •  जुलाई 2018 में मरम्मत के लिए साउथको ने ग्रामीण विकास विभाग को लिखा था

  •  दोनों के बीच तालमेल की कमी कारण शुरू नहीं हो पाया काम

  •  दोनों अधिकारियों पर गैरजिम्मेदार होने का लग रहा है आरोप

शिवराम चौधरी, ब्रह्मपुर

गंजाम जिले में बस हादसे को लेकर चल रही जांच प्रक्रिया के बीच एक बड़ा खुलासा हुआ है. सरकार ने बस हादसे में दस लोगों की मौत के बाद चार अभियंता निलंबित कर दिया है, जबकि एक लेटर में संभावित हादसे को लेकर साउथको यूटिलिटी ने 4 जुलाई 2018 को ही चिंता जता थी. यह पत्र साउथको यूटिलिटी के लेटर हेड पर कार्यकारी अभियांत (विद्युत) बीईडी-3 ब्रह्मपुर ने कार्यकारी अभियंता गंजाम ग्रामीण विकास विभाग, ब्रह्मपुर (साइट-मेंडराजपुर एवं मानिकपुर) जिला गंजाम को लिखा था. इस पत्र में ग्रामीण विकास विभाग को बताया गया था कि सड़क की मरम्मत के कारण ऊंचाई बढ़ने से बिजली के खंभों को स्थानांतरित करने की जरूरत है. साथ ही यह भी लिखा गया है कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो यह जान-माल को कभी नुकसान पहुंचा सकता है. इस पत्र के जरिये ग्रामीण विकास विभाग के रुपये की मांग की गई थी कि बिजली के खंभों को सही और सुरक्षित जगह स्थानांतरित कर दिया जाये, लेकिन यह सब फाइलों में दब कर रह गया.
इस हादसे में 10 लोगों की मौत के बाद जब इस पत्र को लेकर ग्रामीण विकास विभाग के संपर्क किया गया तो उन्होंने सारा ठिकरा साउथको के सिर पर फोड़ दिया. ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी ने कहा कि साउथको ने गंभीरता से पत्र नहीं लिखा और न ही कभी उस पत्र का फालोअप किया, जिससे बात आगे नहीं बढ़ी. इधर, साउथको के सूत्रों ने कहा कि हमने चार जुलाई 2018 को संभावित हादसे को लेकर ग्रामीण विकास विभाग को पत्र लिखकर ध्नायाकर्षण किया, लेकिन उसका जवाब नहीं मिला.
11 केवी तार की चपेट में बस के आने 10 लोगों की मौत के बाद दोनों विभाग एक-दूसरे पर दोषारोपण कर रहे हैं. स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि दोनों विभागों के बीच तालमेल की कमी के कारण यह हादसा हुआ. लोगों ने कहा कि दोनों विभागों के अधिकारी गैरजिम्मेदार थे. लोगों ने तत्कालीन अधिकारियों पर भी कार्रवाई करने की मांग की है.

48 घंटे में हालात पर रिपोर्ट तलब
साउथको के प्रमुख अभियंता प्रदीप कुमार साहू ने कहा कि उनकी कंपनी ओडिशा के आठ जिलों, गंजाम, गजपति, कंधमाल, बौध, रायगड़ा, नवरंगपुर और मालकानगिरि में बिजली आपूर्ति का काम देखती है. हाल में हुए हादसे को लेकर इन सभी आठ जिलों के हर इलाके में बिजली के तारों को लेकर सर्वे शुरू हो गया है. अगले 48 घंटे में हालात को लेकर रिपोर्ट जमा करने के लिए कहा गया है. इस काम में सभी अधिकारियों को लगा दिया गया है.

डीएम-एसपी पहुंचे पीड़ितों के घर, मृतकों को दी श्रद्धांजलि

गंजाम जिला के जिलाधिकारी विजय अमृत कुलांगे और जिला पुलिस अधीक्षक पिनाक तथा एसडीएम सिंधे दत्तात्रे भाउसाहेब ने आज पीड़ितों के घर गये तथा मृतकों को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान तीनों अधिकारियों ने मौके का जायजा भी लिया तथा इलाके में बिजली आपूर्ति व्यवस्था को भी देखा.

About desk

Check Also

ओडिशा में कोरोना से और एक की मौत, कुल मौतों की संख्या 8407 हुई

भुवनेश्वर. ओडिशा में कोरोना से और एक संक्रमित की मौत हो गई है. इसके साथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram