Wednesday , May 18 2022
Breaking News
Home / Odisha / राजधानी में चोरी छिपे हो रहे बंदूक कारोबार का तार झारखंड में

राजधानी में चोरी छिपे हो रहे बंदूक कारोबार का तार झारखंड में

  •  जांच में हुआ खुलासा

  •  पकड़ा गया एक छात्र झारखंड का तो दूसरा ओडिशा के करोड़पति बाप का है बेटा

भुवनेश्वर. राजधानी में चोरी छिपे हो रहे बंदूक कारोबार का तार झारखंड से जुड़ा है. इस कारोबार की जड़ बिहार से भुवनेश्वर तक फैली हुई है. छात्र एवं करोड़पति घर के बच्चे इस गैरकानूनी कारोबर से जुड़े हुए हैं. पढ़ाई की आयु में हाथ में बंदूक और गोली पकड़ रहे हैं. सोमवार को इसी तरह के घटने का पर्दाफाश क्राइमब्रांच एसटीएफ ने किया है. कमिश्नरेट पुलिस के खंडगिरी थाना अन्तर्गत गंडामुंडा में उपभोक्ताओं के साथ डील करते समय एसटीएफ की टीम ने छापामार कर तीन बंदूक, 22 गोली एवं 5 मैगजीन को जब्त किया है. इसके साथ ही पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार होने वालों में झारखंड प्रदेश के सानू पोद्दार (21) एवं खण्डगिरी लेक वैली-2 में रहने वाला सुरेश पाणीग्राही उर्फ लिपुन है. सानू स्थानीय एक कालेज में तीसरे साल का बीबीए छात्र है और उसका घर झारखंड में है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि लिपुन एक करोड़पति व्यवसायी का बेटा है. पिछले साल ही वह बीबीए पास किया है. एसटीएफ आईपीसी की दफा 25(ए) के तहत मामला (नंबर 13 बटा 20) दायर कर दोनों को भुवनेश्वर एसडीजेएम की अदलात में रेफर किया, जहां से जमानत नामांजूर हो जाने के बाद उन्हें झारपड़ा जेल भेज दिया गया है. छापामारी के समय बंदूक खरीदने आए एकाधिक लोगों के बोलरो, बुलेट एवं दो बाइक से फरार हो गए. गिरफ्तार सानू पोद्दार एवं लिपुन को एसटीएफ टीम तीन दिन की रिमाण्ड में लाकर पूछताछ कर रही है. सानू झारखंड में किससे एवं किस मार्ग से बंदूक ला रहा था, इसके साथ ही राजधानी भुवनेश्वर के साथ राज्य के अन्य कितने जिलों में किसे बंदूक इन लोगों ने बेचा है, जांच की जा रही है. उनके बयान के आधार पर झारखंड जाकर डीलर को भी गिरफ्तार करने की योजना एसटीएफ बना रही है. एसटीएफ ने जो तीन बंदूक को बरामद किया है, वह 7.65 एमएम सोफिस्टिकेटेड आटोमेटिक है. यह अत्याधुनिक हथियार है. इस पर मेड इन इटली लिखा हुआ है. यह असली है या केवल इटली बंदूक की नकल कर तैयार की गई है. यह भी पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है.
पिता की है मेडिसीन की दुकान, बेटा कर रहा है बंदूक का कारोबार
पुलिस सूत्रों ने बताया लिपुन का घर गंजाम जिले में है. वह गंडामुंडा लेक वैली-2 में परिवार के साथ रहता है. लिपुन एक धनिक परिवार का लड़का है। एयरफिल्ड थाना क्षेत्र के साथ भुवनेश्वर के विभिन्न जगहों पर मेडिसीन की दुकान है. एक करोड़पति का बेटा आखिर इस गैरकानूनी कारोबर में कैसे जुड़ा, उसकी जांच पुलिस कर रही है. सानू यहां बीबीए की पढ़ाई करते समय लिपुन के घर में किराए पर रह रहा था. लिपुन भी उसी कालेज में पढ़ता था. ऐसे में दोनों की दोस्तो हो गई. दोनों एक ही साथ कालेज आना जाना कर रहे थे. सानू ओडिशा आने से पहले गैरकानूनी बंदूक के कारोबार से जुड़ा हुआ था. पुलिस सूत्रों ने बताया कि वह लिपुन को अपने जाल में फंसा लिया और उसे भी अपने साथ जोड़ लिया, फिर दोनों मिलकर गैरकानूनी ढंग से बंदूक का कारोबार करने लगे.

About desk

Check Also

अध्यापकों के कौशल विकास को शुरू होगा मालवीय मिशन – धर्मेन्द्र प्रधान

 इंस्टीट्यूशनल मेकानिजम रिपोर्ट की केन्द्रीय शिक्षा मंत्री ने की समीक्षा भुवनेश्वर. देश के उच्च शैक्षणिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram