Wednesday , May 25 2022
Breaking News
Home / Odisha / ओडिशा में कोरोना संक्रमण के 10 हजार 489 नए मामले, 3 लोगों की मौत

ओडिशा में कोरोना संक्रमण के 10 हजार 489 नए मामले, 3 लोगों की मौत

  • शून्य से 18 साल आयु के 982 बच्चे संक्रमित

भुवनेश्वर. ओडिशा ने चल रही कोरोना की तीसरी लहर में आज भी 10 हजार 489 नए मामले सामने आने के साथ ही तीन संक्रमित मरीज की मौत हो गई है. क्वारेंटाइन से 6082 मामले हैं जबकि 4407 स्थानीय लोग संक्रमित मिले हैं. नए संक्रमित मामलों में 0-18 वर्ष आयु वर्ग के 982 बच्चे शामिल हैं.
राज्य सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक खुर्दा जिले से सर्वाधिक 2934 लोग संक्रमित हुए हैं, जबकि दूसरे नंबर पर सुन्दरगढ़ जिला है, जहां आज 1447 एवं तीसरे नंबर कटक जिला है जहां से 786 संक्रमित मरीज की पहचान हुई है. उसी तरह से अनुगूल जिले से 158, बालेश्वर जिले से 433, बरगढ़ से 166, भद्रक से 118, बलांगीर से 238, बौध से 85, देवगढ़ से 44, ढेंकनाल से 70, गजपति से 109, गंजम से 92, जगतसिंहपुर से 207, जाजपुर से 195, झारसुगुड़ा से 225, कलाहांडी से 163, कंधमाल से 56, केंद्रापड़ा से 90, केन्दुझर से 105, कोरापुट से 162, मालकानगिरि से 55, मयूरभंज से 383, नवरंगपुर से 159, नयागढ़ से 193, नुआपाड़ा से 108, पुरी से 198, रायगड़ा से 253, संबलपुर से 387, सोनपुर से 163, राज्य पूल में 707 नए मरीज की पहचान हुई है.
गौरतलब है कि प्रदेश में अभी तक 26701571 लोगों का कोविद परीक्षण हुआ है. इसमें 1144401 सकारात्मक मामलों की पहचान हुई है. उसी तरह से 1060067 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं, जबकि प्रदेश में 75797 सक्रिय मामले हो गए हैं. उसी तरह से प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 8484 तक पहुंच गई है.
इधर, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, तीन और कोविद रोगियों की मौत हुई है. डेथ ऑडिट प्रक्रिया के पूरा होने के बाद, कोविद-19 के कारण मृत्यु के रूप में पुष्टि किए गए मामले इस प्रकार हैं. जानकारी के मुताबिक अनुगूल जिले से एक 28 वर्षीय पुरुष की मौत हुई है. उसी तरह से भुवनेश्वर की एक 84 वर्षीय महिला जो उच्च रक्तचाप और हाइपोथायरायडिज्म से भी पीड़ित थी, कोरोना से मौत हो गई है. भुवनेश्वर से ही एक 74 वर्षीय पुरुष जो उच्च रक्तचाप से भी पीड़ित था आज कोरोना से मौत हो जाने की जानकारी राज्य स्वास्थ्य विभाग की तरफ से दी गई है.

About desk

Check Also

न्याय के वितरण के लिए फोरेंसिक चिकित्सा अनुशासन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है

 एम्स भुवनेश्वर ने मनाया “फोरेंसिक मेडिसिन डे” भुवनेश्वर,  एम्स भुवनेश्वर के चिकित्सा अधीक्षक डॉ सच्चिदानंद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram