Saturday , July 2 2022
Breaking News
Home / Odisha / अच्युत सामंत ने बड़े आकार में मनाया उड़नपरी दुती चांद का जन्मदिन

अच्युत सामंत ने बड़े आकार में मनाया उड़नपरी दुती चांद का जन्मदिन

भुवनेश्वर. ओडिशा में खेल प्रतिभा को प्रोत्साहन स्वरुप खेल प्रेमी कीट-कीस के संस्थापक तथा कंधमाल लोकसभा सांसद प्रो अच्युत सामंत ने आज भुवनेश्वर क्राऊन होटल में कीट लॉ की छात्रा, ओलंपियन तथा भारत की उड़नपरी दुती चांद का जन्मदिन बड़े आकार में सैकड़ों खेल प्रतिभाओं, दुती के हितैषियों और शुभचिंतकों की गरिमामय उपस्थिति में मनाया. अपने संबोधन में प्रो अच्युत सामंत ने बताया कि उन्हें इस बात की खुशी है दुती चांद जैसी धाविका उनके द्वारा स्थापित कीट लॉ कालेज में पढ़ती है, जिसने आज महिला एथेलेटीक की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बना ली है. उन्होंने बताया कि दुती को अबतक कुल लगभग एक हजार पांच सौ से भी अधिक खेल पदक आदि मिल चुके हैं, जो उसकी खेल प्रतिभा को स्पष्ट करते हैं. इस अवसर पर दुती चांद के बर्थ-डे का केक काटा गया. दुती की खेल प्रतिभा के विषय में कीट डीम्ड विश्वविद्यालय की उपकुलपति प्रो एस.सामंत, अर्जुन अवार्डी साइक्लिस्ट मिनती महापात्र, ओडिशा फिल्म जगत के नामी अभिनेता मिहिर दास, कीट-कीस के खेल निदेशक डा गगनेन्दु दाश, पत्रकार प्रदोष पटनायक, दिलीप हाली तथा अशोक पाण्डेय आदि ने अपनी-अपनी अनुभूति शेयर की. अपनी प्रतिक्रिया में दुती ने बताया कि वह सबसे पहले प्रो अच्युत सामंत सर के प्रति अपना हार्दिक आभार व्यक्त करना चाहेगी, जिनके बदौलत वह आज खेल जगत के इस मुकाम तक पहुंचने में कामयाब हुई है. वे उसके लिए अपने माता-पिता से भी बढ़कर हैं जिन्होंने उसे भुवनेश्वर में रहने के अत्याधुनिक निवास से लेकर खेल के समस्त संसाधान और यहां तक कि विश्व के सबसे महंगे ट्रैक शूज आदि उपलब्ध कराये हैं. आज वह उन्हीं के बदौलत यहां पर भारत समेत ओडिशा की अनेक खेल प्रतिभाओं की उपस्थिति में अपना जन्मदिन हर्षोल्लास के साथ मना रही है. दुती ने यह भी आश्वस्त किया कि आनेवाले 2020 ओलंपिक में वह अपनी दौड़ प्रतिभा का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करेगी, जिसके लिए वह सतत अभ्यास्तरत है। गौरतलब है कि दुती का जन्म 03 फरवरी,1996 में ओडिशा के जयपुर जिले में हुआ, जिसने 2018 में जकार्ता में आयोजित एशियन गेम्स में महिला 100 मीटर की दौड़ प्रतियोगिता में दो-दो रजत पदक अपने नामकर ओडिशा समेत भारत का मान बढ़ाया तथा 2019 में विश्व विश्वविद्यालयीन प्रतियोगिता में 11.32 सेकेण्ड के कीर्तिमान रिकार्ड की दौड़ के साथ भारत के लिए स्वर्ण पदक अपने नाम किया.

About desk

Check Also

मारवाड़ी सोसाइटी भुवनेश्वर ने संभाला सेवा का मोर्चा, एक लाख से अधिक भक्तों को कराया भोजन

पुरी. पुरी में महाप्रभु श्री जगन्नाथ की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा में मारवाड़ी सोसाइटी, भुवनेश्वर ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
Follow by Email
Telegram