Saturday , October 23 2021
Breaking News
Home / Business / नेस्को और साउथको भी चली सेसू की राह

नेस्को और साउथको भी चली सेसू की राह

  • बिल नहीं भरने वालों का कनेक्शन काटने की चेतावनी
  • साउथको का अभियान 16 से और नेस्को का कनेक्शन काटो अभियान 18 फरवरी से होगा शुरू

बालेश्वर/ब्रह्मपुर. बिजली बिल की बकाया रकम वसूलने के लिए अन्य कंपनियां भी कनेक्शन काटने के रास्ते पर चल पड़ी हैं. सेसू के बाद अब नार्थ इस्टर्न इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कंपनी ऑफ ओडिशा लिमिटेड (नेस्को) और सादर्न इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कंपनी ऑफ ओडिशा लिमिटेड (साउथको) ने भी अपने अधिकार क्षेत्र में बिजली के बकाये बिल को वसूलने के लिए सेसू जैसा अभियान शुरू करने की घोषणा की है. पत्रकारों से बातचीत के दौरान ब्रह्मपुर में साउथको के अधिकारियों और बालेश्वर में नेस्को के अधिकारियों ने यह अभियान शुरू करने की घोषणा की. इस दौरान उन्होंने बताया कि जिन्होंने बिजली के बिल का भुगतान नहीं किया है, उनके कनेक्शन काट दिये जायेंगे. साउथको की 1357 करोड़ रुपये की भारी राशि बिजली बिल के रूप में बकाया है. इसे वसूलने के लिए कंपनी 16 फरवरी से कनेक्शन काटने का अभियान शुरू करेगी. ब्रह्मपुर में साउथको के एओ, प्रदीप कुमार साहू ने कहा कि कनेक्शन काटने का उद्देश्य कंपनी की वित्तीय स्वास्थ्य को सुधारना है. उन्होंने बताया कि पिछले वर्षों में बड़ी मात्रा में बकाया राशि जमा हो गई है और यह साउथको के प्रदर्शन पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रही है. उन्होंने कहा कि इस कारण सबसे अधिक खराब स्थिति में साउथको ही है. इसलिए हमने डिफॉल्ट करने वाले उपभोक्ताओं से बकाया धन एकत्र करने के लिए इस अभियान को शुरू करने का फैसला किया है. इस अभियान को शुरू करने से पहले साउथको ने सभी डिफॉल्टर उपभोक्ताओं को एसएमएस, ई-मेल, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, लीफलेट और पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से सार्वजनिक नोटिस तक पहुंचाने के लिए एक योजना भी बनाई है, ताकि लोगों को बिल जमा करने का अवसर मिल सके. इसके बावजूद यदि उपभोक्ता बिलों का भुगतान नहीं करेंगे तो उनका कनेक्शन काट दिया जायेगा.

इसी तरह, नेस्को ने बालेश्वर में कनेक्शन काटने के अभियान चलाने के बारे में घोषणा की. संवाददाता सम्मेलन के दौरान कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि नेस्को के कार्यक्षेत्र में कुल 18.72 लाख उपभोक्ता हैं, जिनमें से 10.81 लाख डिफाल्टर उपभोक्ताओं के पास लगभग 1500 करोड़ रुपये की रकम बकाया है। यूटिलिटी कंपनी के अनुसार, 39,000 व्यापारिक प्रतिष्ठान और 1962 उद्योगों के पास क्रमशः 95 करोड़ रुपये और 305 करोड़ रुपये का बिल बकाया है. प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी दो फरवरी को बकाएदारों को नोटिस भेजेगी और एक पखवाड़े के बाद यानी 18 फरवरी से कनेक्शन काटना शुरू करेगी.

उल्लेखनीय है कि सूसे ने 15 जनवरी से चरणबद्ध तरीके से अपने अधिकार क्षेत्र के तहत बिजली बकाएदारों पर कार्रवाई शुरू कर दी है. इसने पहले चरण में कनेक्शन काटने के लिए वाणिज्यिक और अमीर डिफॉल्टर उपभोक्ताओं को लक्षित किया और गरीब परिवारों को अंतिम चरण के लिए छोड़ दिया था.

About desk

Check Also

रजनी कांत सिंह ने की हिड़सिंग मध्यम सिंचाई योजना की समीक्षा

अमित मोदी, अनुगूल राज्य विधानसभा के उपसभापति तथा विधायक रजनी कांत सिंह ने हिड़सिंग मध्यम सिंचाई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram