Wednesday , December 1 2021
Home / National / पाकिस्तानी अखबारों सेः महंगाई के मुद्दे पर सरकार को पीडीएम के जरिए घेरने की खबरों को दी प्रमुखता

पाकिस्तानी अखबारों सेः महंगाई के मुद्दे पर सरकार को पीडीएम के जरिए घेरने की खबरों को दी प्रमुखता

  • क्वेटा की बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी और पूर्वी वजीरिस्तान में आतंकी हमलों की खबरें भी छाई रहीं

  •  रोजनामा दुनिया ने अपनी रिपोर्ट में पाकिस्तान के अभी ग्रे लिस्ट में बने रहने की आशंका जताई

  •  रोजनामा खबरें ने भारत में बिजली संकट के मद्देनजर कतर से एलएनजी कार्गो लेने की खबर दी

नई दिल्ली, पाकिस्तान से मंगलवार को प्रकाशित अधिकांश समाचारपत्रों ने महंगाई के मुद्दे को लेकर इमरान खान सरकार के खिलाफ देशभर में विपक्षी दलों के संयुक्त मोर्चा पीडीएम के जरिए धरना प्रदर्शन और रैलियां आयोजित करने का फैसला लिए जाने की खबरें प्रमुखता से प्रकाशित की हैं। अखबारों ने नेशनल असेंबली में विपक्ष द्वारा महंगाई के खिलाफ कड़ा विरोध करने और काली पट्टियां बांधकर संसद में आने की खबरें भी प्रकाशित की हैं। अखबारों ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज के लीडर शहबाज शरीफ का एक बयान भी छापा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि सरकार देश को तबाही के मुहाने पर ला चुकी है। सड़कों पर निकलना पड़ेगा।
अखबारों ने प्रधानमंत्री इमरान खान और सेनाध्यक्ष जनरल कमर बाजवा के साथ कोरोना वायरस से सम्बंधित एक बैठक में एक साथ भाग लिये जाने की खबरें भी दी हैं। अखबारों ने सेनाध्यक्ष जनरल कमर बाजवा के जरिए आईएसआई हेड क्वार्टर का दौरा किए जाने की खबरें भी दी हैं। अखबारों ने बताया है कि जल्द ही नया आईएसआई प्रमुख पाकिस्तान को मिलने वाला है। सूचना प्रसारण मंत्री फव्वाद चौधरी ने बताया है कि 48 घंटे के अंदर आईएसआई प्रमुख की नियुक्ति का नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा।

अखबारों ने बेतहाशा बढ़ रही महंगाई को कम करने के लिए सरकार की तरफ से खाने पीने की वस्तुओं पर टैक्स कम किए जाने के फैसले की खबरें भी दी हैं। अखबारों ने पाकिस्तान के पूर्व वित्त मंत्री शौकत तरीन को प्रधानमंत्री का विशेष वित्तीय सलाहकार नियुक्त किए जाने की खबरें भी दी हैं।
अखबारों ने क्वेटा में बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी के बाहर पुलिस वैन पर आतंकवादियों के जरिए हमला किए जाने की खबरें भी दी हैं। इस हमले में एक पुलिस वाले के मारे जाने जबकि 7 के घायल होने की खबरें हैं। अखबारों ने पूर्वी वजीरिस्तान में आतंकवादियों के जरिए की गई फायरिंग में एक जवान के मारे जाने की भी खबर दी हैं। अखबारों ने ईद मिलादुन्नबी के अवसर पर प्रधानमंत्री हाउस, राष्ट्रपति भवन सहित विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी इमारतों को सजाए जाने की खबरें भी दी है। अखबारों ने 4 साल में 185 नैब अधिकारियों के खिलाफ भी विभागीय जांच शुरू होने की खबरें दी हैं। यह सभी खबरें रोजनामा दुनिया, रोजनामा खबरें, रोजनामा औसाफ, रोजनामा पाकिस्तान, रोजनामा एक्सप्रेस, रोजनामा नवाएवक्त और रोजनामा जंग ने अपने पहले पन्ने पर छापी हैं।

रोजनामा दुनिया ने खास खबर दी है, जिसमें बताया गया है कि पाकिस्तान अभी 4 महीने और फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की ग्रे लिस्ट में बना रहेगा। जर्मन मीडिया के हवाले से दी गई खबर में कहा गया है कि एफएटीएफ कि पेरिस में तीन दिवसीय बैठक आज से शुरू हुई है, जिसमें पाकिस्तान के ताजा हालात की समीक्षा की जाएगी। अखबार का कहना है कि पाकिस्तान का स्टेटस बदलने का फैसला अप्रैल में संभव है। पाकिस्तान को इस बैठक से काफी उम्मीद थी कि उसे ग्रे लिस्ट से बाहर कर दिया जाएगा।
रोजनामा दुनिया ने खबर दी है कि पाकिस्तान में बढ़ रही महंगाई की वजह से डॉलर की कीमत 173 रुपया तक और एक तोला सोना की कीमत 1 लाख 19 हजार तक पहुंच गई है। अखबार ने बताया कि आयात कर के पाकिस्तान में लाई जाने वाली वस्तुओं के दामों में वृद्धि से देश में महंगाई बढ़ने की आशंका व्यक्त की जा रही है।

रोजनामा खबरें ने एक खबर में बताया कि भारत में व्याप्त बिजली संकट को दूर करने के लिए सरकार की तरफ से कतर से एलएनजी के 58 कार्गो उपलब्ध कराने का प्रयास तेज कर दिया गया है। अखबार ने बताया कि एक न्यूज़ एजेंसी ने यह खबर दी है कि इंफ्रास्ट्रक्चर की मरम्मत और देखभाल की वजह से भारत वर्तमान वित्त वर्ष में 50 एलएनजी कार्गो की डिलीवरी नहीं ले सका था। पिछले हफ्ते मंत्रालय ने एक खत में कतर से इन कार्गो की डिलीवरी मांगी है। अखबार का कहना है कि भारत में लॉकडाउन की वजह से पिछले साल एलएनजी कार्गो को मांग में कमी आई है।
साभार-हिस

About desk

Check Also

सवर्ण महासंघ फाउंडेशन का राष्ट्रीय अधिवेशन आयोजित

 ओडिशा की महिला अध्यक्ष संतोषी चौधरी की गयीं सम्मानित लखनऊ. सवर्ण महासंघ फाउंडेशन का राष्ट्रीय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram