Saturday , October 23 2021
Breaking News
Home / Odisha / जमीन के दो गज नीचे से आरती यादव की लाश बरामद

जमीन के दो गज नीचे से आरती यादव की लाश बरामद

 हत्या कर लाश को दफनाफा दिया गया था

 पति को था आरती की चरित्र पर संदेह

 पति समेत पांच लोग गिरफ्तार

संबलपुर। गुमशुदगी के 18 दिन बाद आखिरकार आरती यादव की लाश जमीन के दो गज नीचे से बरामद कर लिया गया है। इसके साथ ही इस मामले का लगभग पटाक्षेप हो गया है। दहेज की मांगपर पर सुनियोजित तरीके से आरती की हत्या की गई, इसके बाद उसकी लाश को सिटी स्टेशन के बाद स्थित बागडिय़ा आम बगान में दफना दिया गया था। धनुपाली पुलिस ने मामले पर ठोस कार्रवाई करते हुए आरती के पति कुणाल यादव समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि एक आरोपी अब भी फरार है। गिरफ्तार अन्य आरोपियों का नाम सोनू यादव, मनीष सिंह, विनता देवी एवं सुनील उर्फ ओमप्रकाश सिंह बताया गया है। मिली जानकारी के अनुसार आरती यादव बिहार के पिंडरा थाना अंतर्गत रामपुर निवासी सुरेन्द्र सिंह की कन्या थी। डेढ़ साल पहले उसका विवाह आरा जिला के चांदी थाना अंतर्गत जुक्ता गांव के मूल निवासी कुणाल यादव के साथ हुआ था। चूंकी कुणाल संबलपुर शहर के बहालपाड़ा-साखीपाड़ा में रहकर अपने जीविका चला रहा था। इस कारण विवाह के तत्काल बाद उसने अपनी पत्नी आरती को लेकर संबलपुर चला आया। विवाह के कुछ माह तक दोनों का रिश्ता ठीक चला। इसके बाद किन्तु उनके संबंधों में कटूता आने लगी। दहेज की मांगपर कुणाल तथा उसके परिवार के सदस्य उसपर मानसिक एवं शारीरिक दबाव बनाने लगे। इस बात को लेकर उनके घर में हमेशा कलह की स्थिति बनी रहती थी। इस बाद को लेकर 31 दिसंबर 2019 की रात भी दोनों पति एवं पत्नी के बीच काफी बहसाबहसी हुई।

इसके बाद से ही आरती रहस्यमय ढंग से गायब हो गई। 3 जनवरी 2020 को आरती के पति कुणाल ने धनुपाली थाना में उसकी गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने छानबीन आरंभ किया। किन्तु इस बीच आरती का पति कुणाल, ससुर श्याम बाबू एवं डेढ़ ससूर सोनू यादव के साथ परिवार के अन्य सदस्य भी फरार हो गए। इस घटना के बाद पुलिस के माथे पर बल पड़ गया। पुलिस को शक हो चूका था कि आरती के साथ किसी प्रकार की अनहोनी हुई है। एसपी डा. कनवर विशाल सिंह के निर्देश पर पुलिस की विशेष टीम गठित की गई। इस टीम को बिहार रवाना किया गया। पुलिस की टीम ने बेहतरीन काम करते हुए इस हत्याकांड में संलिप्त आरती के पति कुणाल यादव समेत परिवार के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया और संबलपुर ले आई। जब यहांपर उसने सख्ती से पूछताछ आरंभ हुई तो उन्होंने सारी कहानी बयान कर दिया। उनकी निशानदेही पुलिल की टीम ने सिटी स्टेशन के पास स्थित आम बगीचा में धावा बोला और जमीन के दो गज नीचे से आरती की लाश बरामद किया। जांच के दौरान यह सामने आया है कि 20 दिसंबर 2019 को हुए झगड़े के बाद पति कुणाल ने गुस्से में आकर बेरहमी से आरती की हत्या कर दिया। इसके बाद उसने अपने भाई सोनू यादव एवं दोस्त मनीष को मामले की जानकारी दिया। एक दिन तक लाश को घर में रखने के बाद 1 जनवरी 2020 को वे सिटी स्टेशन के पास स्थित आमबगीचा पहुंचे और गढ्ढा खोदना आरंभ किया। 1 जनवरी की रात 12 बजे उन्होंने लाश को एक ऑटो में लोड किया और वहांपर ले जाकर दफना दिया। जिसके बाद उन्होंने पुलिस को आरती की गुमशुदगी की सूचना दिया। अंतत: पुलिस की कार्रवाई रंग लाई और मामले की सत्यता उजागर हुई। बताया जाता है कि आरोपियों से अब भी गहन पूछताछ की जा रही है। पूछताछ समाप्त होने के बाद आरोपियों के खिलाफ आगे की कानूनी कार्रवाई आरंभ की जाएगी।

About desk

Check Also

राशिफल – जानिये क्या कहते हैं आपके सितारे

कैसा रहेगा आज का दिन आपके लिए? क्या कहते हैं आज के सितारे? दैनिक राशिफल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram