Wednesday , December 7 2022
Breaking News
Home / Odisha / पाबंदियों के बीच रथयात्रा की तैयारियां पूरी, कल 12 को भक्तों को दर्शन देने निकलेंगे महाप्रभु श्री जगन्नाथ

पाबंदियों के बीच रथयात्रा की तैयारियां पूरी, कल 12 को भक्तों को दर्शन देने निकलेंगे महाप्रभु श्री जगन्नाथ

  • कल पुरी दुनिया को दर्शन देने निकलेंगे महाप्रभु श्री जगन्नाथ, बलभद्र और देवी सुभद्रा

  • पुरी में 48 घंटे का कर्फ्यू लागू, लोगों से सहयोग की अपील

  • केवल आपात स्थिति में ही घरों से निकलें पुरी के लोग – जिलाधिकारी

प्रमोद कुमार प्रृष्टि, पुरी

महाधाम पुरी में महाप्रभु श्री जगन्नाथ की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. महाप्रभु की रथयात्रा के लिए तीनों रथ श्रीमंदिर के समक्ष पहुंच चुके हैं. 12 जुलाई को महाप्रभु श्री जगन्नाथ, भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के संग अपने भक्तों को दर्शन देने के लिए श्रीमंदिर से निकलेंगे और अपनी मौसी के घर गुड़िंचा मंदिर पधारेंगे.

कोरोना महामारी के बीच परंपरा को कायम रखने के लिए रथयात्रा का आयोजन किया जा रहा है. इसलिए पिछली साल की तरह इस साल भी भक्तों को रथयात्रा उत्सव में शामिल होने की अनुमति नहीं है. आज सुबह आठ बजे से 48 घंटा व्यापी कर्फ्यू लागू कर दिया गया है, ताकि लोग अपने घरों से नहीं निकल पायें. यहां तक कि बड़दांड के किनारे सभी होटलों, गेस्ट हाउस, धर्माशाला को भी खाली करा दिया गया है. स्थानीय लोगों को छतों पर तथा बालकनी में भी खड़े होने पर पाबंदी है.

जिले के सभी प्रमुख आठ प्रवेश द्वारों पर नाका लगाया दिया गया है. किसी भी बाहरी व्यक्ति को प्रवेश की अनुमति नहीं है. सिर्फ आपात और आवश्यक सेवाओं के लिए निकलने की छूट है.

पुरी समुद्र तट पर बालुका कलाकार सुदर्शन पटनायक की ओर से बनायी गयी रथयात्रा की 3डी कलाकृति.

जिलाधिकारी समर्थ वर्मा ने शहर के निवासियों से रविवार रात से मंगलवार तक घर के अंदर रहने और केवल एक आपात की स्थिति के मामले में अपने घर से बाहर आने की अपील की है.

उन्होंने कहा कि अगर कोई आपात स्थिति होती है, तो जनता को किसी भी तरह की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा. ऐसी स्थिति में उन्हें बाहर आने पर पुलिसकर्मियों को सहायता और सहयोग करने के लिए कहा गया है.

रविवार को हमेशा की तरह पूर्ण रूप से शटडाउन रहेगा और 11 जुलाई को रात 8 बजे से 13 जुलाई को रात 8 बजे तक पुरी नगर क्षेत्र में कर्फ्यू रहेगा. कलेक्टर ने कहा कि कर्फ्यू के दौरान बड़डांड किनारे की सभी दुकानें और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे.

वर्मा ने एक बार जोर देकर कहा कि बड़डांड किनारे रहने वाले लोगों को रथयात्रा देखने के लिए अपनी छतों पर एकत्र होने की अनुमति नहीं दी जाएगी. मैं उन सभी से टीवी या इंटरनेट पर रथयात्रा देखने का अनुरोध करता हूं. वर्मा ने कहा कि 48 घंटे के कर्फ्यू अवधि के दौरान केवल आवश्यक सेवाओं जैसे आग, स्वच्छता, चिकित्सा और दूरसंचार की अनुमति होगी. जिलाधिकारी ने कहा कि जनता को कर्फ्यू के दौरान किसी प्रकार की परेशानी होने पर हेल्पलाइन नंबर 1800-345-7495 पर संपर्क करना चाहिए.

पुरी में महाप्रभु श्री जगन्नाथ की विश्वप्रसिद्ध रथयात्रा के सुचारू संचालन की जिम्मेदारी कुल 65 प्लाटून पुलिस बल, 10 अतिरिक्त एसपी, 31 डीएसपी और सहायक कमांडेंट और 64 आईआईसी के कंधों पर दी गयी है. एडीजी (कानून व्यवस्था) आरके शर्मा ने कल समीक्षा बैठक के बाद श

बताया कि पुरी शहर को 12 जोन में बांटा गया है. भगवान श्री जगन्नाथ मंदिर और गुंडिचा मंदिर के बीच के क्षेत्र को चार क्षेत्रों और शेष शहर को आठ क्षेत्रों में विभाजित किया गया है.

शहर के मुख्य द्वार पर और बड़डांड की दोनों ओर की इमारतों की छतों पर सुरक्षाबलों की तैनाती की जाएगी.

About desk

Check Also

पद्मपुर उपचुनाव की मतगणना पूर्व बीजद की समीक्षा बैठक

भुवनेश्वर। पद्मपुर विधानसभा उपचुनाव के परिणाम आने से पूर्व बीजू जनता दल की एक समीक्षा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email
Telegram