Home / National / बिहार : मधुबनी जिले के झंझारपुर में दामाद ने पत्नी एवं सास सहित चार को मौत के घाट उतारा

बिहार : मधुबनी जिले के झंझारपुर में दामाद ने पत्नी एवं सास सहित चार को मौत के घाट उतारा

पटना। बिहार में मधुबनी जिले के झंझारपुर में एक सनकी दामाद ने अपने ही परिवार के 4 लोगों की हत्या ससुराल में कर दी। सनकी दामाद ने अपनी सास, पत्नी और बच्चों को मौत के घाट उतार दिया है।

इस हत्याकांड के बाद शनिवार सुबह से ही इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच मे जुटी है। सनकी युवक ने सास और पत्नी के साथ अपने 6 माह के नवजात बच्चे और 4 साल की मासूम बेटी को मौत के घाट उतार दिया है। घटना के बाद युवक फरार है। घटना गोधनपुर गांव की है।
दरभंगा निवासी अवाम गांव के पवन महतो की पत्नी पिछले कुछ माह से अपने मायके झंझारपुर के सूखैत में अपने दो बच्चों के साथ रह रही थी। उसका पति के साथ कोई विवाद चल रहा था। शुक्रवार की रात पवन महतो अपने एक साथी के साथ आया और उसने सो रही अपनी सास प्रमिला देवी (60), पत्नी पिंकी देवी (26), 4 साल की बेटी प्रिया और छह माह की बेटी प्रीति को जांता (अनाज पीसने का पत्थर का बना सामान) और उसके लकड़ी के हैंडल से मार डाला।

घटना की जानकारी होते ही लोग घटनास्थल में पहुंचने लगे। भारी भीड़ उमड़ पड़ी। सड़क जाम की स्थिति हो गई थी। एसडीडीपीओ पवन कुमार के अलावा 112 की गाड़ी, झंझारपुर, आरएस एवं लखनौर के एसएचओ दल बल के साथ पहुंचकर भीड़ को नियंत्रित करने में लगी हुई। स्वर्गीय लखन महतो की पत्नी 60 वर्षीय प्रमिला देवी, अपनी पुत्री 25 वर्षीय हिरण देवी उर्फ पिंकी, अपनी दो नतनी 6 वर्षीय प्रीति कुमारी और 4 वर्षीय प्रिया कुमारी के अलावा दो पोते 8 वर्षीय सुहानी एवं 4 वर्षीय सचिन के साथ वारिस लाल चौक स्थित अपने घर पर सोई थी। उनका दामाद अवाम निवासी पवन महतो भी अपने ससुराल में ही था। रात लगभग 12 से 2:00 बजे के बीच सनकी दामाद किसी विवाद को लेकर अपनी सास पत्नी और अपनी दोनों पुत्री की हत्या कर दी।

हत्यारा के साले संतोष महतो के दो बच्चे सुहानी और सचिन इस घटना के समय डर कर पलंग के नीचे छिप गए थे। इसी घर में पत्नी और दो बच्चे की लाश पड़ी हुई थी। घर के बाहर आंगन की तरफ खेत में निकलने वाले दरवाजे पर उनकी सास की लाश पड़ी हुई थी। अंदाजा लगाया जा रहा है कि दामाद के इस मारपीट वाले रूप को देखकर जब उनकी सास घर से भागने लगी होगी तो उसके दामाद ने उसे खदेड़ कर पकड़ा होगा और वहीं पर उसकी हत्या कर दी होगी। सुबह लगभग 5:00 बजे के बाद संतोष महतो जब अपनी मां के घर पर पहुंचा और आवाज लगाया तो देखा कि सभी लाश पड़ी थी। चौकी के नीचे सहमे बच्चे पिता की आवाज सुनकर बाहर निकले तो उसने बताया कि उनके फूफा ने रात के समय इस घटना को अंजाम दिया है।
एसडीपीओ पवन कुमार ने बताया कि एफएसएल की टीम को बुलाया गया है। हर बिंदु से जांच होने के बाद ही लाश का पंचनामा किया जाएगा। पत्थर का जाता और कुछ ऐसे लकड़ी के टुकड़े व भोथरे सामान से पीट कर हत्या किए जाने की बात कही जा रही है। उन्होंने बताया कि दो अन्य लोगों की इस वारदात में शामिल होने की आशंका है। स्पेशल टीम को आवाम की तरफ गिरफ्तारी के लिए भेजा गया है।
साभार -हिस

Share this news

About desk

Check Also

चार सौ से अधिक सीटें जीतेगी भाजपा: प्रमोद सावंत

नई दिल्ली। दिल्ली में लोकसभा की सभी सातों सीटों पर 25 मई को मतदान होना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *